Luggage Rules in Indian Railway in Hindi: हवाई जहाज़ की तुलना में यात्री ट्रेन में ज़्यादा सामान लेकर सफ़र करते हैं. वहीं, बहुत लोगों को ये भी लगता है कि ट्रेन में जितना मन उतना सामान ले जाया जा सकता है और इसपर कोई फ़ाइन भी नहीं लगेगा. अगर आप भी ऐसा सोचते हैं, तो ये आर्टिकल आपको ज़रूर पढ़ना चाहिए. प्लेन की तरह ट्रेन में भी Luggage Rules होते हैं, जिनका अगर पालन न किया जाए, तो ज़ुर्माना भरना पड़ सकता है. Luggage Rules in Train में सामान के वजन के बारे में भी बताया गया है यानी कितना किलो सामान एक यात्री ट्रेन में सफ़र के दौरान अपने साथ रख सकता है. 

Indian railway
Image Source: livemint

आइये, लेख में आगे बढ़ते हैं और जानते हैं Luggage Rules in Indian Railway in Hindi

अलग-अलग श्रेणी के लिए सामान का वजन 

Indian Railway luggage Rule
Image Source: tv9bangla

Luggage Rules in Indian Railway in Hindi: इस बात पर ध्यान देना ज़रूरी है कि भारतीय रेलवे ने ट्रेन की अलग-अलग श्रेणी के लिए अलग-अलग सामान का वजन निर्धारित किया है, जैसे:  

1. Indianrail.gov वेबसाइट के अनुसार, अगर आप स्लीपर क्लास (Sleeper Class) में ट्रैवल करते हैं, तो अपने साथ 40 किलो वजन का सामान रख सकते हैं. इसके लिए आपसे भारतीय रेलवे अलग से चार्ज नहीं करेगा. वहीं, इसमें 10 किलो Marginal Allowance इंडियन रेलवे देती है. वहीं, मुफ़्त वजन के साथ यात्री 70 किलो तक (Maximum limit) वजन ले जा सकता है. 

2. सेकंड क्लास (Second Class) के यात्री अपने साथ 35 किलो वजन मुफ़्त ले जा सकते हैं. वहीं, इनके लिए भी Marginal Allowance 10 किलो है. वहीं, 80 किलो वजन की अधिकतम सीमा है यानी Luggage Scale Rate पर इतना बुक कराया जा सकता है.  

Indian railway
Image Source: awaywiththesteiners

3. AC 3-tier sleeper/AC chair car में अगर आप सफ़र कर रहे हैं, तो आप अपने साथ 40 किलो वज़न मुफ़्त (Luggage Rules in Train in Hindi) ले जा सकते हैं. वहीं, 10 किलो Marginal Allowance मिलेगा और यहां वजन की अधिकतम सीमा 40 किलो ही रहेगी. 

4. AC 2-Tier sleeper/First class में सफ़र करने वाले अपने साथ 50 किलो वजन मुफ़्त ले जा सकते हैं. वहीं, यहां भी 10 किलो Marginal Allowance रहेगा. साथ ही यहां 100 किलो अधिकतम वजन है मुफ़्त निर्धारित वजन के साथ. 

5. अगर आप AC First Class में ट्रैवल कर रहे हैं, तो आपको मुफ़्त निर्धारित वजन 70 किलो रहेगा और यहां मार्जिनल अलाउंस 15 किलो मिलेगा. वहीं, यहां वजन की अधिकतम सीमा 150 किलो है. 

कितने पर लगेगा फ़ाइन 

Luggage Rule
Image Source: ixigo

यात्री अगर मुफ़्त सामान से ज़्यादा ले जा रहे हैं, तो उसे बुक कराने की अनुमति है. इसके लिए आपको एक निर्धारित रकम Luggage Scale Rate के अनुसार देनी होगी. 

अगर यात्रा के दौरान कुल सामान का वजन मुफ़्त निर्धारित वजन से ज़्यादा पाया गया, लेकिन वो मार्जिनल एलाउंस के अंदर है, तो आपसे Luggage Scale Rate से 1.5 गुणा वसूला जाएगा.     

वहीं, यात्री के सामान का वजन अधिकतम वजन से ज़्यादा पाया गया, तो, Luggage Scale Rate से 6 गुणा देना पड़ेगा.   

सामान का माप 

luggage Rule Indian Railway
Image Source: businessleague

यात्री उन ट्रंक, सूटकेस और बक्से अपने साथ रख सकते हैं जिनका बाहरी माप 100 सेमी x 60 सेमी x 25 सेमी (लंबाई x चौड़ाई x ऊंचाई) होनी चाहिए. अगर इससे अधिक है, तो इसके लिए यात्री को ब्रेक वैन बुक कराना होगा. 

ये भी पढे़ं: जानिए ट्रेन के पंखों में कौन-सी तकनीक का इस्तेमाल होता है, जिसके कारण कोई उनको चुरा नहीं सकता