बीते रविवार को 50-60 नक़ाबपोशों ने जेएनयू में घुसकर छात्रों, शिक्षिकों को बुरी तरह मारा और हॉस्टल्स में तोड़-फोड़ की. छात्रसंघ की प्रेसिडेंट, आइशी घोष और प्रोफ़ेसर सुचारिता सेन की ख़ून से लथ-पथ तस्वीरों ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था. बॉलीवुड के कई सितारे, बुद्धिजीवी, नेताओं ने इस अटैक की निंदा की थी.

भुवन यहीं नहीं रुकते हैं. इसके बाद उनका एक और ट्वीट सामने आया, जिसमें वो लिखते हैं कि 'मैंने अपने भारत में कभी ऐसी हिंसा की कल्पना भी नहीं की थी. अगर आपमें थोड़ी सी भी देशभक्ति है, तो ये समझ लीजिए कि राजनीति से ऊपर इंसानियत है. किसी को शारीरिक चोट पहुंचाना जानवरों से भी बदतर है. ये हिंसा इस देश को मंज़ूर नहीं.'

भुवन के इन ट्विट्स को कुछ लोगों ने खू़ब सराहा और प्यार बरसाया. हांलाकि, भुवन ने इसके बाद एक तीसरा ट्वीट भी किया, जिसमें उन्होंने वो लिखा, जिससे शायद अब तक बहुत लोग अंजान होंगे.

भुवन के इस ट्वीट पर महेंद्र सिंह धोनी की तस्वीर लगाये हुए एक यूज़र लिखता है कि 'जेएनयू वाले हिंदू के खिलाफ़, भारत के खिलाफ़ कुछ भी बोलें, तो सब चुप रहें? अंदर घुस-घुसकर मारो जेएनयू वालों को. जय हिंद.'

इस ट्वीट पर भुवन बाम का जवाब आपका दिल लूट लेगा, देखिये:

भारत एक लोकतांत्रिक देश है और यहां हर किसी को अपनी बात कहने का हक़ है. बाकि क्या सही है और क्या ग़लत? इसका फ़ैसला आपको करना है.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.