दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर तस्करी का एक अनोखा तरीका देखने को मिला है. यहां सीआईएसएफ़ ने एक शख़्स को खाने-पीने की चीज़ों में विदेशी मुद्रा की तस्करी करते हुए रंगे हाथों पकड़ा है.

दरअसल, दिल्ली के आई.जी.आई. एयरपोर्ट के टर्मिनल 3 पर दुबई जा रहे एक यात्री पर सुरक्षा बलों को शक़ हुआ. उन्होंने उसे जांच के लिए साथ चलने को कहा. यहां जब सीआईएसएफ़ के कर्मचारियों ने उसकी तलाशी ली तो उसके पास 45 लाख रुपये की विदेशी मुद्रा बरामद हुई. हैरानी की बात ये है कि उसने इस विदेशी मुद्रा को मूंगफली, बिस्कुट के पैकट और पके हुए मटन के अंदर छिपा रखा था.

Source: facebook

इसका एक वीडियो सीआईएसएफ़ ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है. इस शख़्स से 508 नोट बरामद किए गए हैं. इसमें यूरो, रियाल और दिनार जैसी विदेशी मुद्राएं शामिल हैं. पकड़े गए व्यक्ति का नाम मुराद अली है जो यूपी के सहारनपुर ज़िले का रहने वाला है.

Source: indiatvnews

CISF के सहायक महानिरीक्षक हेमेंद्र सिंह ने बताया, ''यात्री के सामान की जांच करने पर पके हुए मांस के टुकड़ों, मूंगफलियों, बिस्कुट के पैकेटों और अन्य खाद्य सामग्री में छिपाकर रखी गई विदेशी मुद्रा बरामद हुई है.''

उन्होंने कहा कि ये तस्करी का अनोखा मामला है. उसके पास जो मूंगफलियां थीं उन्हें जब तोड़ा गया तो उसमें दानों की जगह पर नोट निकले. किसी को शक़ न हो इसलिए मूंगफली के छिलकों को सफ़ाई से चिपकाया गया था. इसी तरह मटन और बिस्कुट के पैकेट में भी बड़े ही शातिर तरीके से विदेशी मुद्रा को छुपाया गया था.

बरमाद की गई मुद्रा को कस्टम विभाग को सौंप दिया गया है. फ़िलहाल मुराद अली से पूछताछ जारी है. सुरक्षा बलों को संदेह है कि वो तस्करी के रैकेट से जुड़ा हुआ है. क्योंकि वो कई बार विदेश की यात्रा कर चुका है. वहीं मुराद का कहना है कि वो बेकसूर है. वो मज़दूरी का काम करता है और कुछ लोगों के कहने पर वो खाने-पीने का सामान विदेश लेकर जा रहा था.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.