केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन कोरोना की लड़ाई में अपना अहम योगदान दे रहे हैं. इसी योगदान के चलते अब वो WHO कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष बनने जा रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, डॉक्टर हर्षवर्धन आगामी 22 मई को कार्यकारी बोर्ड के अध्यक्ष का पदभार संभालेंगे. केंद्रीय मंत्री, डॉ. हर्षवर्धन जापान के डॉक्टर हिरोकी नकाटनी की जगह कार्यभार संभालेंगे. नकाटनी वर्तमान में 34 सदस्यीय एग्ज़ीक्यूटिव बोर्ड के चेयरमैन हैं. 

who
Source: dailytimes

WHO के अधिकारियों के अनुसार, मंगलवार को इंडिया को WHO के कार्यकारी बोर्ड में शामिल करने प्रस्ताव पारित हुआ था. जिस पर करीब 194 देशों ने अपने हस्ताक्षर कर निर्णय पर सहमति जताई. WHO में भारत को शामिल करने का फ़ैसला पिछले साल ही ले लिया गया था. दक्षिण-पूर्व एशिया समूह का ये फ़ैसला सर्वसम्मति से लिया गया था. इस फ़ैसले के अनुसार, भारत का 3 साल के लिये बोर्ड मेंबर्स में शामिल होना था. 

Harsh vardhan
Source: timesnownews

ख़बर के मुताबिक, 22 मई को एग्ज़ीक्यूटिव बोर्ड की मीटिंग होनी है. इस मीटिंग में हर्षवर्धन का चयन होना तय है. बता दें कि बोर्ड के कार्यकारी अध्यक्ष पद रोटेशन के हिसाब से एक वर्ष के लिये दिया जाता है. वहीं एक अधिकारी का कहना है कि डॉक्टर हर्षवर्धन को पूरी ज़िम्मेदारी नहीं दी जाएगी, उन्हें केवल कार्यकारी बैठकों की अध्यक्षता करनी होगी. इस बोर्ड में 34 लोग होंगे, जो कि हेल्थ सेक्टर से होंगे. ये मीटिंग साल में दो बार आयोजित होती है. पहली बैठक जनवरी, तो दूसरी मई के अंत में होती है. 

Harsh Vardhan
Source: medicaldialogues

ये उपलब्धि सिर्फ़ डॉक्टर हर्षवर्धन के लिये ही नहीं है, बल्कि पूरे भारते के लिये है. 

News के आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.