उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फ़रनगर से एक बेहद चौंका देने वाला क़िस्सा सामने आया है. एक धर्मगुरु को 10 लड़कों के उत्पीड़न के मामले में आश्रम से गिरफ़्तार कर लिया गया है. 

UP
Source: timesnownews

रिपोर्ट के मुताबिक, मामला शुक्रताल स्थित गोदिया मठ आश्रम का है, जहां स्वामी भक्ति भूषण उर्फ़ 'महाराज' ने बच्चों को कोरोना की दवा बता कर शराब पिलाई. इसके साथ ही उनका यौन शोषण भी किया. मामले को लेकर बच्चों की शिकायत चाइल्ड हेल्पलाइन में दर्ज कराई गई, जिसके बाद उसे गिरफ़्तार कर लिया गया. 

Alcohal
Source: ET

आश्रम के मालिक को लोग 'महाराज' कह कर बुलाते थे. आश्रम से छुड़ाए गये बच्चों का कहना है कि ढोंगी महाराज दवाई के नाम पर पहले ड्रिंक पिलाता था. इसके बाद नग्न लिटाकर गंदी फ़िल्में दिखाते था और फिर बुरे काम करता था. लड़कों को शिक्षा देने के बहाने त्रिपुरा और मिज़ोरम से आश्रम लाया गया था. बचाए गए बच्चों की मेडिकल जांच में पुष्टि हुई कि उनमें से 4 यौन शोषण का शिकार हुए थे. इन बच्चों की उम्र 7 से 16 वर्ष है. 

महाराज के नाम पर ऐसे आश्रम चलाने वाले लोगों को सख़्त से सख़्त सज़ा मिलनी चाहिये, जो छोटे बच्चों के साथ इतने घिनौनी हरक़त करते हुए डरते तक नहीं. 

News के और आर्टिकल्स पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.