देश में आए कोरोना संकट के चलते कई लोग अपने घरों से दूर अनजान जगहों पर फंसे हैं. ऐसे में भारतीय रेलवे ने 1 जून से श्रमिक ट्रेनों के अलावा 200 नॉन एसी ट्रेनें चलाने का फ़ैसला लिया है.

इसकी जानकारी रेलवे ने रेलवे ने ट्वीट करके दी,

इन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अलावा भारतीय रेलवे 1 जून से रोज़ 200 नॉन एसी ट्रेनें चलाने जा रहा है. ये सभी ट्रेनें द्वितीय श्रेणी की होंगी. इन ट्रेनों की बुकिंग ऑनलाइन ही होगी. ट्रेनों के नाम और समय की पूरी जानकारी जल्द ही दी जाएगी. 

रेलवे के अधिकारियों के अनुसार, ये ट्रेनें लंबी दूरी तय कर छोटे शहरों को जोड़ते हुए चलाई जाएंगी, ताकि अलग-अलग राज्यों में फंसे प्रवासियों को जल्द से जल्द उनके घर पहुंचाया जा सके.

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट के ज़रिए रेलवे से जुड़ी कई जानकारियां देते हुए कहा,

श्रमिकों के लिए रेल मंत्रालय की ओर से प्रति दिन लगभग 400 श्रमिक ट्रेनें चलाई जा रही हैं. इसके अलावा भारतीय रेलवे 1 जून से रोज़ 200 नॉन एसी ट्रेन चलाएगा, जिसकी बुकिंग ऑनलाइन होगी. 

श्रमिकों के लिए कहा,

श्रमिकों के लिए लगभग 200 श्रमिक स्पेशल ट्रेन चल सकेंगी और आगे चलकर ये संख्या बढ़ेगी.

आगे कहा,

राज्य सरकारों से आग्रह किया कि श्रमिकों की मदद कर उन्हें पास के मेनलाइन स्टेशन में रजिस्टर कर रेलवे को लिस्ट दें. ताकि रेलवे इसके आधार पर श्रमिक स्पेशल ट्रेन चला सके. श्रमिकों से कहा, जो जहां है वो वहीं रहे सभी को बहुत जल्द उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाएगा. 

रेलवे की तरफ़ से जारी प्रेस रिलीज़ के मुताबिक़,

भारतीय रेल द्वारा निरंतर श्रमिक ट्रेनों का परिचालन जारी होने की वजह से अब तक कुल 1600 ट्रेनें चल चुकी हैं. इसके ज़रिए लगभग 21.5 लाख श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाया जा चुका है. 
indian railways is going to run 200 non ac
Source: indiatvnews

आपको बता दें, केंद्र ने 12 मई को 15 विशेष एसी प्रीमियम ट्रेनों को चलाया था. ये ट्रेनें नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से डिब्रूगढ़ (असम), अगरतला (त्रिपुरा), हावड़ा (पश्चिम बंगाल), पटना (बिहार), बिलासपुर (छत्तीसगढ़), रांची (झारखंड), भुवनेश्वर (ओडिशा), सिकंदराबाद (तेलंगाना) बेंगलुरु (कर्नाटक), चेन्नई (तमिलनाडु), तिरुवनंतपुरम (केरल), मडगांव (गोवा), मुंबई सेंट्रल (महाराष्ट्र), अहमदाबाद (गुजरात) और जम्मू तवी (जम्मू और कश्मीर) तक चल रही हैं.

News पढ़ने के लिए ScoopWhoop हिंदी पर क्लिक करें.