कोरोना वायरस तीजी से पूरी दुनिया में अपने पैर परासता जा रहा है. इस मुश्किल घड़ी में हम सबको एक-साथ मिलकर और डटकर खड़े रहना. इस संकट से लड़ने में एक-दूसरे की मदद करनी है. इस वायरस की चपेट अब कई देश आ चुके हैं. इसी बीच चीन के सबसे अमीर व्यक्ति और अलीबाबा के संस्थापक Jack Ma ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एक बड़ा ऐलान किया है. जैक मा ने इस महामारी से निपटने के लिए एशिया के 10 देशों को आपातकालीन चिकित्सा आपूर्ति कराने का वादा किया है.

जैक मा ने जिन दस देशों को मदद करने की बात की है, उनमें भारत को छोड़कर अफ़गानिस्तान, बांग्लादेश, कंबोडिया, लाओस, मालदीव, मंगोलिया, म्यांमार, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका शामिल हैं.

मदद के तौर पर इन देशों को Jack Ma की तरफ़ से 1.8 मिलियन मास्क, 210,000 टेस्ट किट, 36,000 सुरक्षा के सूट, वेंटिलेटर और थर्मामीटर दिए जाएंगे. कुछ दिनों पहले ही Jack ने इटली में मेडिकल सप्लाई भेजी थी. इसके बाद अब वो एशिया के देशों के लिए आगे आए हैं. Jack Ma Foundation ने 17 मार्च को इतालवी रेड क्रॉस और इसके बाद अफ़्रीकी उपमहाद्वीप में चिकित्सा आपूर्ति भी भेजी थी. इसके अलावा अस्पतालों, डॉक्टरों और नर्सों से जुड़ी एक हैंडबुक भी साझा की थी.

आपको बता दें, इंडियन काउंसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के अनुसार, भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज़ों की संख्या अब तक 315 हो गई है. इनमें 92 नए मामले हैं. अबतक 6 लोगों की मौत हो चुकी है. आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, दिसंबर में चीन से फैले कोरोना वायरस से शनिवार तक दुनियाभर में 11,737 लोगों की मौत हो चुकी है. इस वायरस की चपेट में अब तक 205 देश आ चुके हैं.

asias richest man jack ma pledges 18 million masks and aid.
Source: abcnews

ग़ौरतलब है कि, तेज़ी से बढ़ रहे कोरोना वायरस से बचने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया था. अपने संबोधन में उन्होंने, जनता से आज यानि 22 मार्च को देश से जनता कर्फ़्यू का पालन करने की अपील की है. इसके चलते सभी लोगों को सुबह 7 बजे से रात के 9 बजे घर में ही रहना है.

News पढ़ने के लिए ScoopwhoopHindi पर क्लिक करें.