नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा (JEE) मेन का रिजल्ट बुधवार को जारी कर दिया. इस एग्ज़ाम में दिल्ली की काव्या चोपड़ा ने 300/300 अंक हासिल करके इतिहास रच दिया है. काव्या पहली महिला हैं, जिन्होंने JEE परीक्षा में 100% हासिल किए हैं.

Source: indianexpress

इससे पहले काव्या ने फ़रवरी में हुई परीक्षा में 99.97 प्रतिशत अंक हासिल किए थे. लेकिन वो 99.98 प्रतिशत अंक लाने के लक्ष्य के साथ दोबारा परीक्षा में शामिल हुईं. 

शुरू से रही हैं एकेडमिक अचीवर

दिल्ली में डीपीएस वसंत कुंज की छात्रा काव्या चोपड़ा का शैक्षणिक जीवन उपलब्धियों से भरा रहा है. उन्होंने सीबीएसई बोर्ड में 10वीं में 97.6 प्रतिशत अंक हासिल किए थे. वो मैथ्स और साइंस ओलंपियाड में एक सक्रिय प्रतिभागी रही हैं. उसने कक्षा 9 और 11 में रीजनल मैथ्स ओलंपियाड भी क्रैक किया है. साथ ही, आइओक्यूपी, आइओक्यूसी और आइओक्यूएम तीनों क्वालीफ़ाई किया है.

ये भी पढ़ें: कोरोना को मात देकर JEE-Mains के टॉपर बने रंजीम प्रबल दास, कहा- ‘एलन मस्क को करता हूं फ़ॉलो’

काव्या की मां शिखा चोपड़ा ने indianexpress.com को बताया कि काव्या मैथ्स में अच्छी है और उसे कंप्यूटर भी पसंद है. उन्होंने कहा, ‘अग़र काव्या जेईई एडवांस क्लियर करती है, तो वो आईआईटी-बॉम्बे से कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग का विकल्प चुन सकती है.’

Source: zeenews

हर रोज़ 7 से 8 घंटे की पढ़ाई

फ़रवरी में काव्या ने भौतिकी और रसायन विज्ञान पर फ़ोकस किया, लेकिन उच्च स्कोर नहीं कर सकीं. ऐसे में उन्होंने मार्च में फिर से कोशिश की. उन्होंने हर रोज़ इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा के लिए 7 से 8 घंटे पढ़ाई की. बता दें, काव्या के पिता एक कंप्यूटर साइंस इंजीनियर हैं और मां मैथ्स की टीचर. 

ग़ौरतलब है कि जेईई मेन के लिए क़रीब 6.19 लाख छात्रों ने परीक्षा में भाग लिया था. मार्च सत्र के लिए जारी किए गए इस रिज़ल्ट में 13 छात्रों ने 100 पर्सेंटाइल हासिल किए हैं. वहीं, फ़रवरी सत्र में नौ छात्रों को 100 प्रतिशत मिले. NTA, मई परीक्षा के बाद अखिल भारतीय रैंक (AIR) जारी करेगा.