बीते रविवार दिल्ली के अनाज मंडी इलाके में हुए भीषण अग्निकांड ने करीब 43 मासूम लोगों की जान ले ली. रिपोर्ट के मुताबिक, बिल्डिंग में लगी आग काफ़ी भयानक थी, जिससे उठे धुएं से दम घुटने से कई लोगों ने की मौत हो गई. घटना के समय कई लोगों को पता चला गया था कि अब वो ज़िंदा नहीं बचेंगे. इसलिए आखिरी सांस लेने से ठीक पहले उन्होंने अपने घरवालों और पड़ोसियों को कॉल करके दिल की बात कही. 

IndiaTimes

इन्हीं चंद लोगों में से एक मूसा नामक शख़्स भी है, जिसने दम तोड़ने से पहले अपने पड़ोसी को कॉल करके कुछ आंखें नम कर देने वाले शब्द कहे. कॉल के दौरान मूसा ने अंतिम क्षणों में कहा, ‘घर का ध्यान रखना भैया… आज तो मैं गया … कल को लेने आ जैयो.’ 

India Times

रिपोर्ट के अनुसार, बातचीत के दौरान मूसा कई बार टूट कर रोया. धुएंं की वजह से उसे सांस लेने में काफ़ी तकलीफ़ हो रही थी. इसके साथ ही उसकी आवाज़ भी लड़खड़ा रही थी. 30 साल के मूसा ने बिजनौर के रहने वाले मोनू यानि शोभित अग्रवाल को फ़ोन लगा के बताया कि अब वो ज़िंदा नहीं बच पाएगा. मूसा पिछले 4 साल से फ़ैक्ट्री में कार्यरत था. वो फ़ोन पर मोनू से कहता है कि जैसे-तैसे मेरे घर को चला लियो… बच्चों के बड़े होने तक… या अल्लाह… अभी किसी को मत बताना… बाद में बताना और यहां आने की तैयारी कर लो. 

इसके साथ ही उसने मोनू से निज़ामुद्दीन के किसी शख़्स 5 हज़ार रुपये लेने की बात भी कही. मूसा की ज़िंदगी के आखिरी पलों में मोनू ने भी उसे विश्वास दिलाया कि वो उसके परिवार का पूरा ख़्याल रखेगा. 

deccanherald

मूसा तो अब इस दुनिया में नहीं है, जिसका दर्द शायद ही उसके परिवार वाले कभी भुला पायें. हम आशा करते हैं कि इस मुश्किल घड़ी पीड़ित परिवार को हिम्मत और हौसला मिले. 

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.