Lucknow’s Anokha Mall: मॉल में घूमना तो हर किसी को पसंद है लेकिन यहां शॉपिंग करना हर किसी को नहीं भाता. यहां अधिकतर सामान ब्रांडेड होता है इसलिए उसका महंगा होना लाज़मी है. इसलिए आम लोग यहां ख़रीदारी करने से कतराते हैं.

पर आज हम आपको एक ऐसे मॉल के बारे में बताएंगे जहां लोग मुफ़्त में सामान ले सकते हैं. ये मॉल कहीं और नहीं उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में है. 

इस इलाके में है ये मॉल

mall
forbes

लखनऊ के इस अनोखे मॉल का नाम भी ‘अनोखा मॉल’ है. यूपी की राजधानी के रहीम नगर (Raheem Nagar) में है. इस मॉल से ग़रीब तबके लोग जैसे मज़दूर, रिक्शा चालक, बेघर आदि मुफ़्त में सर्दी के कपड़े और जूते ले जा सकते हैं. इस मॉल की ख़ासियत ये है कि ये हर साल दिसंबर, जनवरी और फरवरी के महीने में ज़रूरतमंद लोगों को ठंड से बचाने के लिए खुलता है.

ये भी पढ़ें: आंखें मूंद कर नहीं क़दम आगे बढ़ाकर आता है बदलाव, मिलें अरुल से जो ऑटो चला बेघर लोगों की करते हैं मदद

5 साल पहले हुई थी शुरुआत

underprivileged people
Scroll.in

इसे परोपकारी लोगों की सहायता से चलाया जाता है. दरअसल, इस मॉल की शुरुआत 5 साल पहले हुई थी. यहां लोग अपने हिसाब से ग़रीबों के लिए कपड़े, स्कूल यूनिफ़ॉर्म, जूते आदि दान कर जाते हैं. इसे ही ग़रीबों को मुफ़्त में बांटा जाता है. इसकी शुरुआत डॉ. अहमद रज़ा ख़ान (Dr. Ahmed Raza Khan) ने की थी.

underprivileged people
indiaspend

उन्होंने बताया कि इस मॉल को ज़रूतमंद लोगों को कड़ाके की ठंड बचाने के लिए खोला गया था. शुरुआत में तो बहुत कम लोगों ने इस काम के लिए कपड़े दान किए, लेकिन जैसे ही उन्हें इसके मकसद का पता चला तो दान देने वालों की कमी न रही. इसके संचालन में भी उन्हें शुरुआती दौर में थोड़ी कठिनाइयां आई.

लोग करते हैं सराहना और मदद

mall winter outfits warm
trendhunterstatic

पहले कुछ लोग ख़ुद को ग़रीब बता कपड़े ले जाते और बाज़ार में इन्हें बेच देते. इससे बचने के लिए भी डॉ. रज़ा ने इतज़ाम किए. अब यहां से कोई भी सर्दियों में कपड़े-जूते बिना कुछ दिए या फ़ोटों खिंचवाए ले जा सकता है. डॉ. रज़ा के इस नेक काम की लोग सरहाना भी करते हैं और ख़ुद आकर उन्हें कपड़े दान कर जाते हैं.

शीतलहर के कारण सर्दियों बहुत से लोगों की मौत हो जाती उन्हें बचाने के लिए भले ही छोटी शुरुआत है, लेकिन ऐसे प्रयास हर राज्य में किए जाने चाहिए.