महाशिवरात्रि को शिवभक्त अलग-अलग तरीकों से मनाते हैं. कोई भंडारे का आयोजन करता है, तो कोई ज़रूरतमंदों को खाना खिलाता है. तो कोई साधु-संतों को दान-दक्षिणा देता है. हर हर महादेव के स्वर के बीच हिन्दू धर्म के अनुयायी अलग-अलग तरीकों से इस दिन का पालन करते हैं. 

Source: The Divine India

Free Press Journal की एक रिपोर्ट के अनुसार, महाशिवरात्रि को उज्जैन के कुछ ऑटोरिक्शा चालकों ने अलग तरीके से मनाने का निश्चय किया. धार्मिक संगठनों का साथ देते हुए कुछ ऑटोरिक्शा चालकों ने बिना किसी शुल्क के शिवभक्तों को महाकाल दर्शन करवाया. उज्जैन में महाकाल ज्योतिर्लिंग है और शिवरात्रि पर विशेष पूजा और श्रृंगार किया जाता है. 

Source: Free Press Journal

नानाखेड़ा ऑटो एसोशिएशन के सदस्यों ने महाकाल दर्शन को आने वाले भक्तों नि:शुल्क सेवाएं दीं. सुबह 9 बजे से शाम के 5 बजे तक बब्लू, धीरज, रजत, स्नेहल, लखन, दुर्गेश, बंटी, चिंटू, नितीन, दयाराम ने भक्तों को फ़्री सवारी दी.

इस तरह की पहल की तारीफ़ होनी चाहिए.