15 जून की रात लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हो गई. इसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गये हैं. वहीं कई सैनिकों के घायल होने की ख़बर है जिनमें से 4 जवानों की हालत गंभीर बताई जा रही है.

Indian Army
Source: firstpost

शर्म की बात ये है कि इस संवेदनशील मुद्दे पर भारतीय पत्रकार ने बेहद असंवेदनशील रिपोर्टिंग की है. दरअसल, सोशल मीडिया पर आज तक की जानी-मानी एंकर श्वेता सिंह की एक वीडियो क्लिप वायरल हो रही है. वीडियो में इस घटना के लिये श्वेता सिंह ने भारतीय सेना को ज़िम्मेदार ठहराया है.

वीडियो में श्वेता सिंह कहती हैं कि सीमा पर पहरेदारी देने का कर्तव्य सेना का है, न कि सरकार का है. भारतीय सेना को गश्त लगाने के लिये राजनीति आकाओं की इजाज़त लेने की ज़रूरत नहीं है. अगर ये कहा जाए कि चीन ने हमारी ज़मीन हड़प ली, तो इससे भारतीय सेना पर सवाल उठता है.

श्वेता सिंह की रिपोर्ट की सोशल मीडिया पर काफ़ी आलोचना हो रही है:

हम तो बस इतना कहेंगे कि मैम अगर आज आप निडर हो कर स्वतंत्र रूप से रिपोर्टिंग कर रही हैं, तो ये स्वतंत्रता भी सेना की वजह से ही है. आपको अपने लफ़्ज़ों के लिये माफ़ी मांगनी चाहिये.

News के और आर्टिकल्स पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.