अमेरिका के ह्यूस्टन के एक पोस्ट ऑफ़िस का नाम बदलकर दिवंगत सिख पुलिसकर्मी 'संदीप सिंह धालीवाल' के नाम पर रखा जाएगा. संदीप की ह्यूस्टन में 27 सितंबर को गोली मारकर हत्या कर दी गई उस वक़्त वो ड्यूटी पर थे. दिवंगत पुलिसकर्मी को सम्मान देने के लिए अमेरिकी सांसद Lizzie Fletcher ने शुक्रवार को हाउस ऑफ़ रिप्रेंजेटेटिव्स में ये बिल पेश किया.

Sandeep Singh Dhaliwal
Source: fletcher.house

Lizzie Fletcher ने कहा,

डिप्टी धालीवाल टेक्सास के लिए लोगों के लिए प्रेरणा से कम नहीं थे. उन्होंने सभी लोगों को अपने सकारात्मक नज़रिए से बहुत प्रेरित किया. इसलिए मैं प्रस्ताव रखती हूं कि ह्यूस्टन में 315 एडिक्स हॉवेल रोड पर स्थित पोस्ट ऑफ़िस का नाम ‘डिप्टी धालीवाल सिंह पोस्ट ऑफ़िस’ रखा जाए. ये उनके लिए सम्मान की तरह होगा. इसलिए मैं चाहती हूं कि हमारे टेक्सास के साथी जल्द इस प्रस्ताव पर अपनी मुहर लगाएं.
Sandeep singh Dhaliwal
Source: bhaskar

हैरिस काउंटी कमिश्नर Adrian Garcia ने कहा,

ये हमारे दोस्त संदीप सिंह धालीवाल के लिए सम्मान की तरह होगा. डिप्टी धालीवाल ने हमेशा अपनी ड्यूटी पूरी ईमानदारी से की थी. उनकी विरासत उनके परिवार, दोस्तों और समुदाय की तरफ़ से जारी रहेगी. इस प्रस्ताव को लाने के लिए सांसद फ़्लेचर को मैं धन्यवाद देना चाहूंगा.
Post Office
Source: blogspot

सासंद Lizzie Fletcher के इस प्रस्ताव की धालीवाल के माता-पिता ने सराहना करते हुए कहा ह्यूस्टन के प्यार ने हमें संदीप की मौत के समय बहुत ढांढस बंधाया था. इस प्यार की वजह से वो मुश्किल समय आसानी से कट गया था.

आपको बता दें, डिप्टी धालीवाल ने 27 सितंबर को टेक्सास में ट्रैफ़िक ड्यूटी करते समय जब दो लोगों को जांच करने के लिए रोका तो उसमें एक महिला और पुरुष थे. जैसे वो लोग बाहर निकले उन्होंने निकलते ही डिप्टी संदीप सिंह धालीवाल के सिर पर गोली मारकर उनकी हत्या कर दी. इस घटना के बाद टेक्सास में फ़ुटबॉल मैच से लेकर प्रदर्शनियों तक में उन्हें श्रद्धांजलि दी गई थी.

Sandeep Singh Dhaliwal
Source: cnn

ग़ौरतलब है कि, संदीप सिंह धालीवाल 2015 में टेक्सास के पहले पुलिसकर्मी बने थे, जिन्हें धर्म से जुड़े प्रतीक और पगड़ी-दाढ़ी रखते हुए पुलिस सेवा देने का मौक़ा मिला था. इसके लिए उन्हें नीतियों में छूट दी गई थी. उनकी मौत के बाद पिछले महीने ही ह्यूस्टन पुलिस डिपार्टमेंट ने अपने नियमों में बदलाव करते हुए ये नीति बनाई कि अब कोई भी ऑफ़िसर धार्मिक प्रतीकों को रखकर ड्यूटी कर सकता है.

Sandeep Singh Dhaliwal
Source: sikh24

News पढ़ने के लिए ScoopwhoopHindi पर क्लिक करें.