हैदराबाद की आग अभी ठंडी नहीं हुई और उन्नाव में फिर एक लड़की को जला दिया गया. दरअसल, उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र में दुष्कर्म पीड़िता पर पेट्रोल डालकर उसे जलाने का प्रयास किया गया. पीड़िता का शरीर 90 प्रतिशत तक जल चुका है. पीड़िता की हालत गंभीर होने के चलते पहले उसे कानपुर के हैलट हॉस्पिटल के लिए रेफ़र किया गया. इसके बाद उसे लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर में रेफ़र किया गया.

पीड़िता के मुताबिक,

इन सभी आरोपियों ने इसी साल मार्च में उसके साथ रेप किया था. उसी का केस रायबरेली कोर्ट में चल रहा था, जिसकी सुनवाई के लिए वो जा रही थी. इसके चलते गुरुवार यानि 5 दिसंबर को सुबह चार बजे वो बैसवारा बिहार रेलवे स्टेशन जा रही थी. तभी गौरा मोड़ पर गांव के हरिशंकर त्रिवेदी, किशोर शुभम, शिवम, उमेश ने उसे घेर लिया. इसके बाद उसके सिर पर डंडे से और गले पर चाकू से वार करने के बाद पेट्रोल डालकर आग लगा दी. शोर मचाने पर भीड़ को आता देख वो भाग निकले.
Rape survivor
Source: newstodaynet

घटना के बाद ही गांव वालों ने पुलिस को बुलाया मौके पर डीएम देवेंद्र पांडे, एसपी विक्रांत वीर समेत कई थानों की पुलिस फ़ोर्स पहुंची और पीड़िता को अस्पताल पहुंचाया गया. पुलिस ने पीड़िता के बयान के आधार पर पांचों आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

Unnao
Source: intoday

निदेशक डॉ. डीएस नेगी के मुताबिक,

पीड़िता का शरीर 90 प्रतिशत जल चुका है. इसका इलाज प्लास्टिक सर्जन डॉ. प्रदीप तिवारी कर रहे हैं. अस्पताल के बर्न यूनिट में भर्ती पीड़िता क हाल-चाल लेने एडीजी ज़ोन एसएन सावंत पहुंचे.

इस मामले को लेकर यूपी सरकार पर प्रियंका गांधी ने निशाना साधते हुए ट्वीट किया,

'कल देश के गृह मंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी की क़ानून व्यवस्था को अच्छा बताया था, जो इस घटना के बाद सरासर झूठ साबित हुआ है. हर रोज़ ऐसी घटनाओं को देखकर मन में रोष होता है. बीजेपी नेताओं को अब फ़र्जी़ प्रचार बंद करना चाहिए.'

News से जुड़े आर्टिकल ScoopwhoopHindi पर क्लिक करें.