गुजरात सरकार ने 8 जून से कोविड-19 निषेध क्षेत्रों से बाहर स्थित मस्ज़िद, मंदिर और चर्च सहित अन्य धार्मिक स्थल खोलने का फ़ैसला लिया है. हांलाकि, इसके लिये कुछ ख़ास नियम भी बनाये गये हैं. धार्मिक स्थलों में सामाजिक दूरी का पालन करना अनिवार्य है. श्रद्धालाओं के प्रवेश के लिये टोकन सिस्टम शुरू किया गया है. लोगों की भीड़ न जमा हो इसके लिये शिफ़्ट के अनुसार पूजा आयोजित की जाएगी. 

Temple
Source: oneindia

स्थानीय श्रद्धालाओं के लिये गुजरात के फ़ेमस सोमनाथ मंदिर के पट खोल दिये गये हैं. वहीं दर्शन इच्छुक अन्य लोग 12 जून से मंदिर में प्रवेश के लिये ऑनलाइन रज़िस्ट्रेशन करा सकते हैं. कोविड19 की गंभीरता को देखते हुए भक्तजनो का मॉस्क पहनना ज़रूरी होगा. धार्मिक स्थलों पर 65 वर्ष से अधिक आयु वाले व्यक्ति और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का प्रवेश निषेध है. 

Temple
Source: outlookindia

सोमनाथ मंदिर के अलावा दिल्ली के कालकाजी मंदिर में भी भक्त मातारानी के दर्शन के लिये पहुंचे. भक्त मंदिर पर सामाजिक दूरी का पालन करते दिखे. नई गाइडलाइंस के अनुसार, भक्त दूर से मातारानी के दर्शन कर पाए, मूर्ति छूने की अनुमति नहीं है. मंदिर के सचिव सुभाष गोयल का कहना है कि कोरोनवायरस को फै़लने से रोकने के लिए सफ़ाई के लिए पर्याप्त इंतज़ाम किए हैं. अगर किसी के पास मॉस्क नहीं है, तो उसे उसे गेट पर मॉस्क मुहैया कराया जाएगा. साथ ही किसी को भी प्रसाद और माला लेने की अनुमति नहीं है. 

बता दें कि अनलॉक 1.0 में छूट मिली छूट के तहत आज यानि 8 जून से मॉल, मंदिर और रेस्टोरेंट खुल गए हैं. वहीं स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में कोरोनो वायरस के 16,229 सक्रिय मामले हैं जिनमें 10,664 लोगों का इलाज होने के बाद छुट्टी दे दी गई है और 761 मौतें हुई हैं. 

News के और आर्टिकल्स पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.