Train Stripes Significance: हमारे देश के सभी प्रकार के ट्रांसपोर्ट सिस्टम में से भारतीय रेलवे (Indian Railways) सबसे महत्वपूर्ण परिवहन है. ये क़रीब 80 प्रतिशत माल और 70 प्रतिशत पैसेंजर को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाता है. भारत सरकार के अंतर्गत रेल मंत्रालय इस पूरे देश के रेल नेटवर्क को सुचारू रूप से चलाता है. इंडियन रेलवे ने 16 अप्रैल 1853 को 22 मील के पहले खंड के साथ इसका परिचालन शुरू किया था. वहीं, दूसरी तरफ़ भारतीय रेलवे सिस्टम मार्ग की लंबाई के मामले में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा और एशिया में सबसे बड़ा संगठन बनने के लिए विस्तारित हो गया है. 

Indian Railways
Source: metrorailnews

ये भी पढ़ें: जानिए ट्रेन में मेटल और कार में रबड़ के पहिए क्यों लगाए जाते हैं, दिलचस्प है इसके पीछे की वजह

जब बात हम जैसे मिडिल क्लास लोगों की आती है, तो जेब हमें एयरप्लेन से ट्रैवल करने की अनुमति नहीं देती है. यात्रा में एक स्पेशल टच जोड़ने के लिए ट्रेनें हमेशा एक किफ़ायती विकल्प होती हैं. सभी उपलब्ध ट्रांसपोर्ट के विकल्पों में से ट्रेन (Train) सबसे व्यावहारिक और किफ़ायती विकल्प साबित होती है. हम सभी ने अपने परिवार के साथ छुट्टियों के लिए रेल से यात्रा की होगी. 

Indian Railways
Source: orientrailjourneys

क्या आपने ट्रेन से ट्रैवल करते समय उस पर बनीं अलग़-अलग़ कलर की धारियों (Train Stripes Significance) पर ध्यान दिया है? आइए आपको बताते हैं कि ट्रेन पर बनी धारियों का मतलब क्या होता है?

ट्रेन के कोच में सफ़ेद और पीली धारी क्यों होती है?

ट्रेन न केवल परिवहन का एक साधन है, बल्कि ये व्यक्तियों को जोड़ती है और उन्हें रोजगार और वस्तुओं जैसे संसाधनों तक पहुंच प्रदान करती है. परिवहन प्रणाली की नींव और एक स्थायी अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण कारक ट्रेनें हैं. इनके बारे में कई अमेज़िंग बातें हैं, जो आपको आश्चर्य में डाल सकती हैं. हम हमेशा इन धारियों को देख कर अनदेखा कर देते हैं, क्योंकि हमें लगता है कि ये सिर्फ़ डिज़ाइन के लिए बनी होंगी. इन धारियों का एक बहुत ही महत्वपूर्ण काम है. कुछ कोचों में उन्हें अन्य कोचों से अलग़ करने के लिए अंतिम खिड़की के ऊपर एक अलग रंग में रंगा गया है. अलग़ कलर के कोचों की अलग कलर की धारियां होती हैं और उन सबका अपना-अपना एक महत्व है. तो आइए इस बारे में पता करते हैं.

train stripes meaning
Source: postoast

1. ब्लू कोच में सफ़ेद धारियां

अगर किसी ब्लू कलर के कोच पर सफ़ेद धारियां बनी हैं, तो इसका मतलब है कि वो बिना रिजर्वेशन वाला सेकेंड क्लास का कोच है. जब ट्रेन प्लेटफ़ॉर्म पर आती है, तो इन धारियों के ज़रिए पैसेंजर जनरल के डिब्बे को पहचान लेते हैं.

train blue coach white stripe
Source: news18

Train Stripes Significance

2. नीले और लाल कोच में पीली धारियां

नीली और लाल कोच में चौड़ी पीली धारियों को ये दर्शाने के लिए चित्रित किया जाता है कि कोचों का उपयोग बीमार या शारीरिक रूप से अक्षम यात्रियों के लिए किया जा रहा है. 

yellow stripes
Source: navbharattimes

ये भी पढ़ें: जानिये ट्रेन के इंजन पर क्यों लिखा होता है 'भगत की कोठी'?

3. ग्रे कोच में हरी धारियां

ग्रे कोच में सिर्फ़ महिलाओं के प्रवेश की अनुमति होती है. इन पर हरी धारियां बनी होती हैं. 

grey coach green stripes
Source: postoast

4. ग्रे कोच में लाल धारियां

EMU/MEMU ट्रेन में फ़र्स्ट क्लास कम्पार्टमेंट को ग्रे कोच पर बनी लाल धारियों से पहचाना जाता है. 

grey coach red stripes
Source: postoast

भारतीय रेल सिस्टम यात्रियों के लिए ट्रेनों के बारे में जानकारी को समझने में आसान बनाने के लिए इन धारियों सहित कई प्रतीकों का उपयोग करता है.