हैवानियत जख़्म देती है, तो इंसानियत घाव पर मरहम लगाती है. यही फ़र्क है इन दोनों के बीच. बस सवाल ये है कि आप किसे चुनते हैं? रूस द्वारा यूक्रेन पर किये गए हमलों के बीच वहां फंसे भारतीयों ने इंसानियत को चुना है. इस बात का सुबूत वहां से आ रही तस्वीरों में साफ़ नज़र आ रहा है.

Russia Ukraine Crisis
Source: livemint

ये भी पढ़ें: Russia-Ukraine War: देखिए यूक्रेनी सेना और नागरिकों की बहादुरी की 17 फ़ोटोज़ और वीडियोज़

यहां जंग के बीच हज़ारों भारतीय फंस गए हैं. इसमें बड़ी तादाद में स्टूडेंट्स हैं. भारत सरकार उनको निकालने की कोशिशें कर रही है, मगर इस बीच भारतीयों ने भी एक-दूसरे की ज़िम्मेदारी ले ली है. 

दरअसल, एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें लोग ट्रेन में लंगर खाते नज़र आ रहे हैं. ये लंगर हरदीप सिंह नाम के शख़्स की ओर से चलाया जा रहा है. बताया जा रहा है कि ये ट्रेन लोगों को पूर्वी यूक्रेन से पश्चिम की ओर ले जा रही है. 

वीडियो में देखेंगे तो उसमें सिर्फ़ भारतीय ही नहीं, विदेशी भी हैं. मुश्किल वक़्त में हरदीप सिंह न सिर्फ़ भारतीय, बल्कि विदेशी छात्रों को भी लंगर बांट रहे हैं.

बता दें, यूक्रेन से ऐसी कई तस्वीरें आ रही हैं, जो बताती हैं कि जंग के बीच भी लोगों ने अपना हौसला नहीं खोया है. न वो अपनी ज़मीन छोड़ने को तैयार हैं और न ही हौसला. यूक्रेन की सेना में शामिल होने के लिए लाइन में खड़े के बुज़ुर्ग की तस्वीर भी इसी जज़्बात को बयां कर रही है.

Ukraine
Source: Twitter

दरअसल, ट्विटर पर एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें एक 80 साल का बुज़ुर्ग़ शख़्स हाथ में बैग लेकर आर्मी ज्वाइन करने के लिए खड़ा नज़र आ रहा है. उनके बैग में एक 2 टी-शर्ट, एक एक्सट्रा पैंट, टूथब्रश और बस एक सैंडविच है. उनका कहना है कि वो ये सब अपने ग्रैंड-किड्स के लिए कर रहे हैं.

बता दें, यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद वहां तबाही का मंज़र पसरा हुआ है. लगातार गोलीबारी और बमबारी जारी है. दुनिया रूस से शांति की अपील कर रही है, मगर जंग रूकने के कोई आसार नहीं दिख रहे. यूक्रेन भी जवाबी कार्रवाई कर रहा है. इस बीच आम लोग ख़ौफ़ से भरे हैं. लोग घरों में दुबके हुए हैं, कुछ लोगों ने अपने घरों को छोड़ दिया है और मौका मिलते ही सुरक्षित स्थानों की ओर जाने को मजबूर हैं.