टीवी और अख़बारों में छपे कुछ विज्ञापन ऐसे होते हैं, जो न चाह कर भी सबका ध्यान अपनी ओर खींच लेते हैं. आजकल एक ऐसा ही विज्ञापन लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है.

क्या है विज्ञापन?

सोशल मीडिया में शेयर किया जा रहा ये विज्ञापन राजेन्द्र सिंह पुरोहित के नाम से जारी किया गया है. हांलाकि, इस बात की अब तक पुष्टि नहीं हो पाई है कि ये विज्ञापन उन्होंने ख़ुद दिया है या फिर किसी और ने उनके नाम से छपवाया है.

Adverstisment
Source: The Lallantop

विज्ञापन कुछ इस प्रकार है:

कयामपुर ग्राम पंचायत सरपंच पद (आरक्षित) हरिजन सीट होने से मैं सरपंच का चुनाव लड़ना चाहता हूं. इस कारण कोई भी हरिजन महिला मुझसे शादी करना चाहती हो, तो वो तुरन्त संपर्क करे. ताकि मैं शादी कर हरिजन हो सकूं और चुनाव लड़ सकूं.

Sarpanch
Source: indiatvnews

सम्पर्ककर्ता का पता: राजेन्द्रसिंह पुरोहित (ब्राम्हण)

बस स्टेण्ड के समीप, कयामपुर
तहसील सीतामऊ,
ज़िला मन्दसौर (म.प्र.)

इस विज्ञापन का सीधा मतलब ये है कि इन महापुरुष को हरजन महिला से शादी सिर्फ़ चुनाव के लिये करनी है. सीधे शब्दों में कहें, तो ये शादी नहीं सौदा है. राजेंद्र पुरोहित साहब जहां से चुनाव लड़ना चाहते हैं, वो आरक्षित सीट है. यही वजह है कि जब तक वो किसी हरजन महिला से शादी नहीं करते, तब तक उनका सरपंच बनने का सपना सिर्फ़ सपना रह जायेगा.

Sarpanch
Source: DNA

इस वाहियत विज्ञापन को लेकर पुरोहित जी का अब तक कोई बयान सामने नहीं आया है. वैसे हम एक बात कहें पुरोहित जी बुरा मत मनाइएगा. बात ऐसी है कि आपको अपनी सोच बदलने की ज़रूरत है. क्यों आपको क्या लगता है?

समाज बदल है, लेकिन कुछ लोगों की सोच अब भी वही है.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.