एयर इंडिया(Air India) की 68 साल बाद घर वापसी हुई है यानी टाटा सन्स(Tata Sons) ने इसे फिर से हासिल करने में कामयाबी हासिल की है. 27 जनवरी 2022 को एयर इंडिया का कंट्रोल टाटा ने अधिकारिक रूप से अपने हाथ में लिया. अब उन्होंने इसकी कायाकल्प करने के लिए इसकी कमान  इल्कर आइची(Ilker Ayci) के हाथ सौंपी है. वो Air India के नए मुख्य कार्यकारी अधिकारी(CEO) और प्रबंध निदेशक(MD) होंगे. 

ये जानकारी हाल ही में टाटा सन्स ने ट्वीट कर दी. चलिए जानते हैं कि कौन हैं इल्कर आइची और टाटा ने उन्हें क्यों इतनी बड़ी ज़िम्मेदारी देने का फ़ैसला किया है.

ये भी पढ़ें:  Air India Airlines की इन 13 पुरानी तस्वीरों में देखिये इसका सुनहरा इतिहास 

कौन हैं इल्कर आइची?

deccanherald

Ilker Ayci इंस्तांबुल के रहने वाले हैं. वो Turkish Airlines के पूर्व चेयरमैन रह चुके हैं. वो 2015 से इस कंपनी से जुड़े हुए थे. पहले वो इसके बोर्ड का हिस्सा थे. इल्कर ने इसी साल इस पद से इस्तीफ़ा दिया है. उनके कार्यकाल में टर्किश एयरलाइन्स काफ़ी फली-फूली थी. इस एयरलाइन्स की गिनती तुर्की के सबसे वैल्यूएबल ब्रैंड्स में होती है.

रह चुके हैं तुर्की के राष्ट्रपति के सलाहकार  

englishtribune

इल्कर तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन(Recep Tayyip Erdogan) के सलाहकार रह चुके हैं. दशकों पहले जब रजब तैयब इंस्तांबुल के मेयर रहे थे तब इल्कर उनके सलाहकार के रूप में काम किया था. इस दौरान उन्होंने इस शहर के विकास में काफ़ी सराहनीय काम किया था. 2018 में इल्कर की शादी में भी राष्ट्रपति रजब तैयब शामिल हुए थे.

कितने पढ़े-लिखे हैं Ilker Ayci ?

telegraphindia

इल्कर ने Bilkent University से डिपार्टमेंट ऑफ़ पॉलिटिकल साइंस एंड पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन की डिग्री ली है. उन्होंने 1997 में इस्तांबुल की Marmara University से इंटरनेशनल रिलेशन में मास्टर डिग्री ली थी. इन्होंने यूके की Leeds University से 2 साल तक पॉलिटिकल साइंस में रिसर्च भी की थी. 2011 में इन्होंने Republic Of Turkey Investment Support और Promotion Agency का पद संभाला था.

टाटा सन्स ने क्यों चुना.

foxstoryindia

टाटा सन्स ने एयर इंडिया की हालत सुधारने और इसे घाटे से मुनाफ़े में लाने के लिए शुरू से ही किसी विदेशी प्रोफ़ेशनल को चुनने का मन बना लिया था. इसके सीईओ के पद के लिए कई यूरोपीयन और अमेरिकन देशों के उम्मीदवारों ने इंटरव्यू दिया था. मगर टाटा सन्स ने इल्कर को चुना. चूंकि इल्कर ने टर्किश एयरलाइन्स को ग्लोबल ब्रैंड बनाने में कामयाबी हासिल की थी, उनके पास एयरलाइंस को चलाने का वैश्विक अनुभव भी था इसलिए उन्होंने इनको चुना.

क्या दूसरी एयरलाइन्स के सीईओ भी हैं विदेशी?

theweek

भारत में अपनी सेवाएं दे रही कई एयरलाइन्स के बड़े पदों पर विदेशी लोग कार्यरत हैं. Vistara एयरलाइन्स के सीईओ Phee Teik Yeoh और Leslie Thng थे, जो सिंगापुर के नागरिक थे. IndiGo के CEO रोनोजॉय दत्ता अमेरिकी नागरिक हैं.  

एक अप्रैल 2022 से जॉइन करेंगे एयर इंडिया  

india

इल्कर इस पद को पाकर ख़ुश हैं. उन्होंने बताया है कि वो एक अप्रैल 2022 से एयर इंडिया को जॉइन करेंगे. उन्होंने कहा कि वो कंपनी के सभी कर्मचारियों के साथ मिलकर एयर इंडिया को दुनिया की बेस्ट एयरलाइन्स बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे.