दुनिया के सबसे ज़्यादा उम्र के White Rhino ने दुनिया को अलविदा कह दिया. सना नाम के इस गेंडे का जन्म 1964 में दक्षिण अफ़्रीका के पूर्वी KwaZulu-Natal Province के Umfolozi National Park में हुआ था. सना की उम्र 55 साल थी.

White Rhino
Source: news18

1964 में दक्षिण अफ़्रीका में पैदा हुई सना को सात साल की उम्र में यूरोप ले जाया गया था. इसके बाद 1993 में फ़्रांस के Nantes के एक चिड़ियाघर Planete Sauvage में पहुंचने से पहले वो जर्मनी के कई पार्कों में रहती थी.

'Save The Rhino' के कार्यकर्ताओं ने NDTV को बताया,

जंगलों में सफ़ेद गेंडों का जीवन क़रीब 50 साल का होता है. सना की उम्र 55 साल हो चुकी थी और वो कीचड़ में या मिट्टी में जाने में असमर्थ थी. जबकि मिट्टी या कीचड़ में जाने से गेंडों के शरीर का तापमान सही रहता है. उन्हें सनबर्न नहीं होता है और न ही किसी कीड़े के काटने का प्रभाव पड़ता है.
White Rhino
Source: huckberry

उन्होंने आगे बताया,

इसके चलते सना को हफ़्ते में एक बार, हम हरी मिट्टी के कीचड़ में ले जाते थे ताकि उसकी त्वचा हाइड्रेटेड रहे और उसे कोई संक्रमण न हो. सना बहुत ही साहसी थी.

'Save The Rhino' ने बताया, दुनिया में केवल 20,000 दक्षिणी सफ़ेद गेंडे बचे हैं.

News पढ़ने के लिए ScoopwhoopHindi पर क्लिक करें.