हर्षल पटेल(Harshal Patel) इंडिया के बेस्ट फ़ॉस्ट बॉलर्स में से एक हैं. वो इस सीज़न IPL में RCB की टीम से खेल रहे हैं. उन्हें आरसीबी ने 10.75 करोड़ रुपये में ख़रीदा था. हर्षल इंडिया के सफ़ल क्रिकेटर्स में से एक हैं, लेकिन उन्हें भी यहां तक आने के लिए बहुत पापड़ बेलने पड़े हैं. उनके स्ट्रगलिंग डेज़ से जुड़ा एक ऐसा ही क़िस्सा आज हम आपके लिए लेकर आए हैं. 

विदेश में अंग्रेज़ी भाषा बनी प्रॉब्लम

harshal patel
Source: circleofcricket

बात उन दिनों की है जब गुजरात का एक लड़का(हर्षल पटेल) अपने माता-पिता के साथ अमेरिका पहुंचा था. उनके मां-बाप काम की तलाश विदेश पहुंचे थे. यहां का पूरा माहौल ही अलग था, लोग अंग्रेज़ी में बोलते थे और हर्षल शुरू से ही गुजराती भाषा बोलते आए थे और स्कूल में पढ़ाई भी उन्होंने इसी भाषा में की थी.

ये भी पढ़ें:  सर डॉन ब्रैडमैन: एक ऐसा क्रिकेटर जिसके नाम है टेस्ट क्रिकेट में 12 दोहरे शतक जड़ने का रिकॉर्ड

Harshal Patel पाकिस्तानी स्टोर में करते थे 12-13 घंटे काम

harshal patel age
Source: gulte

यहां उन्हें अपनी पॉकेट मनी के लिए काम भी करना पड़ता. वो एक परफ़्यूम स्टोर में काम करते थे. वो स्टोर एक पाकिस्तानी शख़्स का था. यहां 12-13 घंटे काम करते थे और उन्हें रोज़ाना 35 डॉलर सैलरी मिलती. उन्होंने ये क़िस्सा Breakfast With Champions के लेटेस्ट एपिसोड में सुनाया है.

ये भी पढ़ें: युवराज, कैफ़ या जडेजा नहीं, बल्कि ये क्रिकेटर था भारतीय क्रिकेट इतिहास का सबसे अच्छा फ़ील्डर  

harshal patel fastest ball
Source: thecricketer
मैं न्यू जर्सी के एलिजाबेथ में परफ्यूम स्टोर में काम करता था. चूंकि मैंने गुजराती माध्यम के स्कूल में पढ़ाई की थी, इसलिए मैं अंग्रेज़ी का एक शब्द भी नहीं बोल सकता था. इसलिए इंग्लिश के साथ मेरी पहली मुठभेड़ थी, वो भी इतनी सारी स्लैंग के साथ. ये मेरे लिए एक अच्छा अनुभव था क्योंकि मैंने सीखा कि ब्लू कॉलर जॉब्स वास्तव में क्या हैं. मेरे अंकल-ऑंटी अपने ऑफ़िस जाते समय मुझे स्टोर पर 7 बजे बजे छोड़ देते थे और दुकान सुबह 9 बजे खुल जाती थी.  मैं 2 घंटे वहां के स्टेशन पर बिताता था. उस देश में मेरे लिए अच्छा अनुभव नहीं था पर मैंने उससे बहुत कुछ सीखा.

                    - हर्षल पटेल(Harshal Patel)

 2021 के IPL में हर्षल ने जीती थी पर्पल कैप  

harshal patel ipl 2022
Source: powersportz

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के इस मीडियम पेसर हर्षल पटेल(Harshal Patel) ने अपनी लाइफ़ में काफ़ी स्ट्रगल किया है. वो मोटेरा स्टेडियम में सुबह 7 बजे प्रैक्टिस के लिए पहुंच जाते थे और 9.30 पर प्रैक्टिस ख़त्म होने के बाद बस एक सिंपल सैंडविच खाकर गुजारा करते थे. हर्षल पटेल की मेहनत रंग लाई और उन्हें हरियाणा की टीम के लिए सेलेक्ट कर लिया गया. वो अपनी टीम के कैप्टन के रूप में रणजी ट्रॉफ़ी भी खेल चुके हैं. 2021 के IPL में हर्षल ने अपनी गेंदबाज़ी से उम्दा प्रदर्शन किया था. उन्होंने आरसीबी के लिए खेलते हुए पर्पल कैप जीती थी. उससे पहले वो दिल्ली की टीम में थे. 

2021 में इंडियन टीम में हुए सेलेक्ट

harshal patel instagram
Source: indianexpress

IPL Auction का एक बुरा अनुभव भी उन्होंने साझा किया. हर्षल ने बताया कि कैसे IPL के लिए सेलेक्ट होने से पहले Auction में कई फ़्रेंचाइजियों के लोगों ने उन्हें ख़रीदने की बात कही मगर नीलामी वाले दिन उनके लिए बोली नहीं लगाई. इससे भी वो काफ़ी दुखी हुए थे, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और 2012 में आरसीबी के लिए सेलेक्ट हो गए. 2021 में आईपीएल की पर्पल कैप जीतने के बाद उन्हें इंडियन टीम में भी सेलेक्ट किया गया. हर्षल ने 2021 में न्यूज़ीलैंड की टीम के ख़िलाफ अपना पहला टी-20 इंटरनेशनल खेला था. 

इस सीज़न वो RCB के लिए खेल रहे हैं.