3T Cricket: साल 2007 में पहली बार T20 इंटरनेशनल क्रिकेट की शुरुआत हुई थी. आज T20 क्रिकेट एक दशक से अधिक समय हो चुका है. आज ये दुनियाभर में धूम मचा रही है. इसके अलावा समय-समय पर क्रिकेट को नया रूप देने के लिए इसमें बदलाव हुये हैं. हांगकांग में Hong Kong Super Sixes टूर्नामेंट खेला जाता है. इसमें दोनों टीमों के बीच 6-6 ओवरों का मैच खेला जाता है. इसी तरह इंग्लैंड में The Hundred या 100-Ball Cricket टूर्नामेंट खेला जाता है. इसमें दोनों टीमें 100-100 गेंदों का मैच खेलती हैं. 

ये भी पढ़िए: Merv Hughes: दुनिया का वो इकलौता गेंदबाज़ जिसने 3 अलग-अलग ओवर्स में पूरी की थी अपनी ‘हैट्रिक’

18 जुलाई, 2020 को वर्ल्ड क्रिकेट में एक नया अध्याय जुड़ा था. जब ‘दक्षिण अफ़्रीका क्रिकेट बोर्ड’ द्वारा 3T Cricket की शुरुआत की. इस दौरान साउथ अफ़्रीका ने कोविड-19 महामारी के लिए धन जुटाने के लिए 3T Cricket Solidarity Cup का आयोजन किया गया था. इस टूर्नामेंट की ख़ास बात ये है कि इसमें 3 टीमें मिलकर 1 मैच खेलती हैं. इसीलिए इसे ‘3T Cricket’ के नाम से जाना जाता है. 

insidesport

चलिए जानते हैं आख़िर क्रिकेट के इस नए फ़ॉर्मेट के नियम क्या हैं?

आमतौर पर खेले जाने वाले क्रिकेट मैच में 2 टीमों का आमना सामना होता है, लेकिन ‘दक्षिण अफ़्रीकी क्रिकेट बोर्ड’ ने कुछ साल पहले क्रिकेट को एक नया रंग देने के लिए 1 मैच में 3 टीमों को उताराने का फ़ैसला किया था. इस दौरान 3 टीमें मिलकर 1 मैच खेलती हैं. ये मैच अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेले जाने वाले मैच से बिल्कुल अलग है. 

3T Cricket के नियम

इस मैच में कोई टॉस नहीं होता है. ऐसे में कौन सी टीम पहले, दूसरे और तीसरे नंबर पर खेलेगी इसका फ़ैसला लकी ड्रॉ के आधार पर होता है. इस 1 मैच में कुल 3 टीमों के 24 खिलाड़ी हिस्सा लेंगे, यानी एक टीम में 8 खिलाड़ी ही शामिल हो सकते हैं. एक खिलाड़ी को केवल 3 ओवर गेंदबाज़ी करने की अनुमति होगी. 

India

What is 3T Cricket?

इस दौरान पहले हाफ़ में सबसे अधिक रन बनाने वाली टीम को दूसरे हाफ़ में पहले बल्लेबाज़ी करने का मौका मिलेगा. जबकि सबसे कम रन बनाने वाली टीम को दूसरे हाफ़ में तीसरे नंबर पर बल्लेबाज़ी करने का मौका मिलेगा. अगर पहले हाफ़ में 2 टीमों ने बराबर का स्कोर बनाया है तो पहले हाफ़ में पहले बल्लेबाज़ी करने वाली टीम को दूसरे हाफ़ में बल्लेबाज़ी करनी होगी.

insidesport

ये भी पढ़ें: Timeless Test: टेस्ट क्रिकेट इतिहास का वो अनोखा मैच जो पूरे 12 दिनों तक चला, फिर भी रहा ड्रॉ

कैसे खेला जाता है ये मैच? 

‘3T Cricket’ मैच में 3 टीमों के बीच 36 या फिर 90 ओवर का मैच होता है, जिसमें 18-18 ओवर के 2 हाफ़ खेले जाते हैं. अगर मैच 36 ओवर का होता है तो हर टीम में 8 खिलाड़ी शामिल होंगे. लेकिन 90 ओवर के मैच में पूरे 11 खिलाड़ी खेलते दिखाई देंगे. 36 ओवर के मैच में हर टीम को कुल 12 ओवर बल्लेबाज़ी के लिए मिलते हैं, जिन्हें 2 भागों में खेला जाता है. इसके पहले भाग में 6 ओवर और दूसरे भाग में भी 6 ओवर बल्लेबाज़ी करनी होती है. हर पारी में बल्लेबाज़ों को नई गेंद का सामना करना पड़ता है.

सिंगल विकेट बल्लेबाज़ी

क्रिकेट (Cricket) के इस नये फ़ॉर्मेट की सबसे ख़ास बात ये है कि यदि किसी टीम के 8 में से 7 खिलाड़ी आउट हो गए तो आख़िरी बल्लेबाज़ अकेला बैटिंग करेगा. बचपन में आपने सिंगल विकेट क्रिकेट तो खेली ही होगी. ये मैच आपके बचपन की यादों को ताज़ा करेगा. इसके अलावा अगर पहले भाग में टीम के 7 खिलाड़ी आउट हुए तो आख़िरी खिलाड़ी अकेला दूसरे भाग में बल्लेबाज़ी करने उतरेगा. इस दौरान उस खिलाड़ी को 2 के गुणांक (2, 4, 6, 8, 10…) में रन लेने होंगे.  

espncricinfo

कैसे निकलता है मैच का नतीजा?

मैच की दोनों पारियों में सबसे अधिक रन बनाने वाली टीम को विजेता घोषित किया जाता है. मैच के अंत में रन के आधार पर ओलंपिक की तरह टीमों को मेडल दिए जाते हैं. सबसे अधिक रन बनाने वाली टीम को ‘गोल्ड मेडल‘, दूसरे नंबर की टीम को ‘सिल्वर मेडल’ और सबसे कम रन बनाने वाली टीम को ‘ब्रोंज़ मेडल’ दिया जाता है. 

ये भी पढ़ें: अद्भुत! क्रिकेट इतिहास का एक अनोखा मैच, जब मैदान पर 1 गेंद पर बन गए थे 286 रन