IAS Pooja Gupta UPSC Success Story: कुछ कर दिखाने की चाह हो तो राह अपने आप मिल जाती है. मेहनत से ज़िंदगी में हर मुक़ाम हासिल किए जा सकते हैं. पूजा गुप्ता इस बात का जीता-जागता उदाहरण हैं, जिन्होंने UPSC में अपने पहले ही प्रयास में IPS में सेलेक्शन पाया और अब वो IAS बन कर अपने परिवार का नाम रौशन कर चुकी हैं.

IAS Pooja Gupta

ASI मां की बेटी बनी IPS

पूजा गुप्ता की मां रेखा गुप्ता दिल्ली पुलिस में असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर पद पर तैनात हैं. वहीं, उनके पिता एक प्राइवेट जॉब करते हैं. यूं तो 12वीं के बाद पूजा मेडिकल की पढ़ाई करने लगी थीं. मगर दिल में उनके हमेशा से UPSC एग्ज़ाम की तैयारी करने का इरादा था. वो अपनी मां से काफ़ी प्रेरित थीं. यही वजह है कि वो मेडिकल के साथ सिविल सर्विसेज़ की तैयारी भी करती रहीं.

पूजा ने न सिर्फ़ UPSC क्लियर करने का सपना देखा, बल्क़ि उसे साकार करने के लिए जी तोड़ मेहनत भी की.

इंटरनेट की मदद से की UPSC की तैयारी

अपनी तैयारी की रणनीति के बारे में बताते हुए पूजा ने कहा कि शुरुआत में उन्होंने इंटरनेट को पढ़ाई का ज़रिया बनाया. YouTube पर टॉपर्स की बात-चीत से उन्हें अपनी तैयारी के लिए एक चार्ट बनाने में मदद मिली.

इसी के साथ वो NCERT और अख़बारों के ज़रिए सामान्य ज्ञान और करेंट अफ़ेयर्स तैयार करती थीं. PIB और PRS जैसी कुछ सरकारी वेबसाइटों पर भी उन्होंने लगातार नज़र बनाए रखी और वहां से काम के नोट्स बनाए.

IAS Pooja Gupta UPSC Success Story

ऑप्शनल सब्जेक्ट में पूजा को ज़्यादा परेशानी नहीं थी. मानव विज्ञान एक ऐसा विषय है जिसे वो बहुत पसंद करती है. उन्होंने इसे ही UPSC का ऑप्शन सब्जेक्ट चुन लिया.

पूजा की फ़ैमिली ने मेडिसिन की पढ़ाई के साथ-साथ सिविल सर्विसेज़ की तैयारी के दौरान भी उनका भरपूर साथ दिया. उनकी मेहनत रंग लाई और सिविल सेवा परीक्षा 2018 में अपने पहले प्रयास में ही उन्होंने AIR 147 रैंक हासिल की.

IPS के बाद पूरा किया IAS बनने का सपना

पूजा ने वो सपना साकार कर लिया था, जिसका ख़्वाब भारत में ज़्यादातर युवा देखते हैं. मगर उनका सपना अभी भी पूरा होना बाकी था. पूजा बचपन से ही IAS बनना चाहती थीं. इसलिए उन्होंने अपनी तैयारी जारी रखी.

उनकी दिन-रात की मेहनत ज़ाया नहीं गई. पूजा सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करती रहीं और यूपीएससी 2020 में उन्होंने 42वीं रैंक हासिल कर आईएएस बनने का सपना पूरा किया.