Facts About Kohinoor. भारतीय कोहिनूर हीरे के बारे में कुछ और जानते हों या न हों हर कोई ये ज़रूर जानता है कि अंग्रेज़ इस बेशक़ीमती हीरे को भारत से चुराकर ब्रिटेन लेकर गये. ये हीरा आज ब्रिटिश महारानी के ताज की शोभा बढ़ा रहा है. कोहिनूर से जुड़ी कई कहानियां, कई Myths हैं. कोई इसे द्वापर युग (Dwapar Yuga) का हीरा बताता है तो कोई कहता है कि ये एक जंगल में मिला था. एक लेख की मानें तो कोहिनूर दुनिया के टॉप 90 हीरों में भी नहीं आता लेकिन ये हीरा उन सबसे रहस्यमयी ज़रूर है. 

Source: Smithsonian Mag

आज हम नज़र डालेंगे कोहिनूर हीरे से जुड़े कुछ तथ्यों पर- 

1. हीरा कहां से आया इसके इतिहास का कोई ठोस प्रमाण नहीं है 

कुछ किंवदंतियां कहती हैं कि ये कृष्ण का स्यामंतक मणि था. कुछ लोगों का कहना है कि ये आंध्र प्रदेश के गोलकोंडा क्षेत्र से काकतीया वंश काल निकला था. BBC के एक लेख की मानें तो भारत में हीरों का खनन होता ही नहीं था और ये हीरा एक सूखी नदी से निकला था. नादिर शाह अन्य लूट के हीरों के साथ इसे ईरान लेकर गया था. 

Source: Wikipedia Commons

ये भी पढ़िये- इस अर्थशास्त्री के हिसाब से, अंग्रेज़ भारत से लगभग 3,21,76,12,50,00,00,000.50 रुपए ले गए थे 

2. पंजाब के आख़िरी शासक दिलीप सिंह ने रानी अंग्रेज़ों को दिया था हीरा 

1849 में दूसरे सिख युद्ध के बाद पंजाब पूरी तरह से अंग्रेज़ों के अधीन हो गया. महाराज रंजीत सिंह के सबसे छोटे बेटे, दिलीप सिंह को भारत के तत्कालीन गवर्नर जनरल Lord Dalhousie ने ब्रिटिश महारानी को हीरा देने का आदेश दिया था. इस हीरे को रंजती सिंह अपनी बांह पर पहनते थे. रनजीत सिंह ने ये हीरा अहमद शाह अब्दाली से लिया था. 

3. रानी विक्टोरिया ने हीरे को कटवाया और आकार दिलवाया 

बहुत से लोगों का मानना था कि अंग्रेज़ों ने हीरे का आकार छोटा कर दिया और हीरे को बेतरतीबी से काटा जबकि हक़ीक़त ये है कि उस दौर के कुशल कारीगर ने हीरे को आकार दिया था. 1852 में महारानी विक्टोरिया के कहने पर ही इसे आकार दिया गया.  

Source: What is Tanzanite

4. 1937 में Queen Elizabeth के ताज का हिस्सा बना 

रानी विक्टोरिया की मृत्यु के बाद कोहिनूर को Edward VII की पत्नी रानी Alexandra के ताज पर लगाया गया. 1937 में ये हीरा Queen Elizabeth के ताज पर लगाया गया.  

Source: Lockers

5. बाबरनामा में मिलता है ज़िक्र 

Quora के एक यूज़र के मुताबिक़, कोहिनूर हीरे का ज़िक्र बाबरनाम (Baburnama) में मिलता है. अलाउद्दीन खिलजी के पास ये हीरा था और उसकी कई पीढ़ियों से होते हुये ये बाबर के पास पहुंचा. पानीपत की लड़ाई के बाद बाबर ने दिल्ली और आगरा जीत लिया और ये हीरा भी उसे मिला. शाहजहां के Peacock Throne पर भी ये हीरा लगा था.  

6. हीरे दुर्भाग्य को देता है न्यौता? 

हीरे से जुड़ी कई भ्रांतियां मशहूर हैं. बहुत से लोगों का मानना था कि ये हीरा बुरी क़िस्मत को न्यौता देता है. सिर्फ़ ईश्वर या कोई महिला ही इसे धारण कर सकती है. इसे धारण करने वाले पुरुषों की क़िस्मत फूट जायेगी ऐसा भी कहा जाता है.  

Source: Baunat

ये हीरा भले ही दुनिया के कई हीरों से सुंदर न हो लेकिन इससे जुड़े रहस्य इसे सबसे दिलचस्प हीरों में से एक बनाते हैं.