हम अक्सर सुनते हैं कि जमाना बहुत ख़राब चल रहा है. ऐसे में ईमानदारी की छोटी सी मिसाल भी मन के अंदर एक उम्मीद की किरण जगाती है कि दुनिया अभी भी इतनी मतलबी और ख़राब नहीं हुई है. लोगों की ईमानदारी के क़िस्से समय-समय पर सामने आते रहते हैं. ईमानदारी की एक मिसाल फिर से सामने आयी है.

Source: wikimedia

हुआ ये कि सुसंता(Susanta) ने ओला से एक ऑटो बुक की. उन्हें कहीं पहुंचने के लिए देर हो रही थी. जैसे ही उनका स्टॉप आया वो जल्दबाज़ी में निकल गए और अपना फ़ोन और वॉलेट ऑटो में ही भूल गए. ऑटो के ड्राइवर जगन्नाथ पात्रा ने जब छूटा सामान देखा तो उन्होंने फ़ौरन ही सामान वापस किया और जब सुसंता(Susanta) ने उन्हें ख़ुश होकर इनाम के तौर पर कैश देने की पेशकश की तो जगन्नाथ पात्रा ने उसके लिए भी मना कर दिया. पूरी बात को सुसंता(Susanta) ने ट्वीट की.

जैसे ही ईमानदारी की ये कहानी ट्विटर पर गयी लोगों ने जगन्नाथ की ख़ूब तारीफ़ की. इस ट्वीट को अबतक 5,000 से ज़्यादा लाइक्स और 855 री-ट्वीट्स मिल चुके हैं. इसको देख कर खुद ओला ने यूज़र की बुकिंग ID पूछी ताकि ड्राइवर पार्टनर को उचित पुरस्कार मिल सके.

ये भी पढ़ें: भ्रष्ट ज़माने में ईमानदारी के ये 8 क़िस्से उम्मीद जगाते हैं कि दुनिया में अच्छाई अभी बाकी है.

क्योंकि ड्राइविंग पार्टनर जगन्नाथ ने इस मदद के बदले कैश लेने से मना कर दिया था इसलिए सुसंता(Susanta) ने उनके गूगल पे में पैसे भिजवा दिए और साथ ही लोगों से भी अपील की की अगर वो जगन्नाथ की मदद करना चाहते हैं तो उनके खाते में पैसे भिजवा दें.

जगन्नाथ पात्रा के इस बेहतरीन काम के बाद ट्विटर पर सभी का रिएक्शन देखते ही बन रहा है. कोई उन्हें हीरो बता रहा है तो किसी ने ईमादारी के लिए सैल्यूट किया. आप भी देखिये क्या कह रहा है ट्विटर:

ये भी पढ़ें: पर्स लौटकर इस कैब ड्राइवर ने ईमानदारी की ऐसी मिसाल पेश की कि सोशल मीडिया पर हीरो बन गया.

ईमानदारी की ऐसी घटनाएं समय-समय पर सामने आती रहती हैं और इनका आना भी बहुत ज़रूरी है ताकि लोगों का भरोसा बना रहे.