साल 1983 में भारतीय क्रिकेट टीम जब 'वर्ल्ड कप' खेलने इंग्लैंड के लिए रवाना हुई थी, तो किसी ने सोचा भी नहीं था कि ये टीम वर्ल्ड कप जीत पायेगी. लेकिन कपिल देव की कप्तानी वाली इस युवा टीम ने क्रिकेट पंडितों की भविष्यवाणी को फेल करते हुए वर्ल्ड कप (World Cup) अपने नाम किया था.

ये भी पढ़ें- 1983 के 'वर्ल्ड कप' से जुड़े इन 12 सवालों का जवाब देकर बन जाइए आप भी चैंपियन

1983 world cup win
Source: icc

इस दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री इंडिया गांधी ने 'वर्ल्ड कप' विजेता 'टीम इंडिया' का भव्य स्वागत किया था. देश के कोने-कोने में कपिल देव की इस विश्व विजेता सेना की ही वाहवाही थी. इस दौरान टीम के सभी खिलाड़ियों को कई तरह के सम्मान भी मिले थे. बीसीसीआई ने भी ईनाम के तौर पर खिलाड़ियों को काफ़ी पैसे दिए थे. लेकिन क्या आप जानते हैं 1983 'वर्ल्ड कप' के दौरान भारतीय खिलाड़ियों की सैलरी कितनी थी?

Indira Gandhi welcome team India
Source: dailymotion

चलिए आज 1983 'वर्ल्ड कप' के दौरान भारतीय खिलाड़ियों की सैलरी के रहस्य से भी पर्दा उठा देते हैं, जिसे देख आप चौंक जायेंगे.  

Team India Win World Cup
Source: timesofindia

दरअसल, विश्व विजेता भारतीय टीम के सभी खिलाड़ियों को 21 अगस्त 1983 को उनकी प्रतिदिन सैलरी भी दी गई थी. आज हम आपको वही सैलरी स्लिप दिखाने जा रहे हैं. इस सैलरी स्लिप (Payslip) को गौर से देखिये. इसमें 'वर्ल्ड कप' खेलने वाले 14 भारतीय खिलाड़ियों के नाम मौजूद हैं. इससे साफ़ पता चलता है कि इस दौरान बीसीसीआई ने खिलाड़ियों को प्रतिदिन 1500 रुपये और 600 रुपये के भत्ते के साथ कुल 2100 रुपये का भुगतान किया गया था.

विश्व विजेता टीम की सैलरी 2100 रुपये हैरानी की बात है.

साल 2020 में पाकिस्तान के पूर्व कप्तान रमीज़ राजा ने '1983 विश्व कप' विजेता भारतीय टीम की पे स्लिप अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर की थी. इस दौरान उन्होंने लिखा था, मुझे आज भी याद है जब हम 1986-87 में भारतीय दौरे पर थे तब हमने 5 टेस्ट और 6 वनडे मैच खेले थे. इस दौरान मुझे 55,000 रुपये मिले थे. 

पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व कप्तान रमीज़ राजा ये बताना चाह रहे थे कि तब पाकिस्तानी क्रिकेटरों को भारतीय क्रिकेटरों से अधिक पैसे मिलते थे, लेकिन आज दोनों टीमों को मिलने वाली फ़ीस में ज़मीन-आसमान का अंतर है.

1983 World Cup Team
Source: bhaskar

बीसीसीआई (BCCI) आज दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बन चुका है. आज भारतीय खिलाड़ियों को सालाना करोड़ों रुपये दिए जाते हैं. बोर्ड से केंद्रीय अनुबंध के तहत A+ ग्रेड वाले खिलाड़ियों को सालाना 7 करोड़ रुपये मिलते हैं. इस श्रेणी में 3 खिलाड़ी विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह हैं.

ये भी पढ़ें- 1983 क्रिकेट वर्ल्ड कप नहीं देखा, तो उस ऐतिहासिक मैच की Highlights इन 20 तस्वीरों में देख सकते हो