सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) क्रिकेट की दुनिया का वो सितारा जो करोड़ों लोगों के लिए प्रेरणास्रोत हैं. क्रिकेट के प्रति सचिन का समर्पण ही उन्हें अन्य क्रिकेटरों से अलग बनाता है. क्रिकेट के गलियारों में ये नाम सुनते ही हमें वर्ल्ड क्रिकेट के कभी न टूटने वाले रिकॉर्ड याद आने लगते हैं. दरअसल, 16 नवंबर, 2013 को 24 साल के बाद मैदान से सचिन... सचिन... वाली आवाज़ें हमेशा के लिए खामोश हो गई थीं. इस दिन क्रिकेट के भगवान सचिन ने अपने घरेलू मैदान वानखेड़े में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया था. 9 साल बीत जाने के बाद भी आज क्रिकेट फ़ैंस मैदान पर सचिन के 'स्ट्रेट ड्राइव और स्वीप' मिस करते हैं. सचिन के इन शॉट्स को देखने भर से ही हमें एक अलग तरह का सुकून मिलता था.

ये भी पढ़ें: क्रिकेट इतिहास के वो 10 अद्भुत रिकॉर्ड्स, जो 'गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड' में भी दर्ज हैं

सचिन तेंदुलकर, Sachin Tendulkar
Source: bleacherreport

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने क्रिकेट की दुनिया का हर एक बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम किया था. वो एकमात्र ऐसे क्रिकेटर रहे हैं जिन्होंने अपने 24 साल के क्रिकेटिंग करियर में 4 दशकों की क्रिकेट खेली थी. सचिन ने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर की शुरुआत 15 नवंबर 1989 को पाकिस्तान के ख़िलाफ़ 'कराची नेशनल स्टेडियम' में की थी. इस दौरान सचिन 16 साल की उम्र में टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले दुनिया के सबसे युवा बल्लेबाज़ बने थे.

Kapil, Sachin and Azhar
Source: thesportsmanwritesaway

आज हम आपको इसी टेस्ट का एक दिलचस्प क़िस्सा बताने जा रहे हैं-

भारतीय टीम का पाकिस्तान दौरा  

भारतीय क्रिकेट टीम साल 1989 में पाकिस्तान दौरे पर गई थी. इस दौरान सीरीज़ का पहला मुक़ाबला कराची में खेला जाना था. कराची टेस्ट शुरू होने से एक दिन पहले जब सचिन तेंदुलकर को उनके डेब्यू की सूचना दी गई तो वो उस रात सो नहीं पाये थे. सुबह जब मैच शुरू हुआ तो सचिन बेहद नर्वस थे. क्योंकि तब उनकी उम्र महज 16 साल थी और उनके सामने दुनिया का बेस्ट बॉलिंग अटैक था. पाकिस्तान की गेंदबाज़ी लाइनअप में इमरान ख़ान, वसीम अकरम, वक़ार यूनिस और अब्दुल क़ादिर जैसे दिग्गज गेंदबाज़ थे.

Sachin Tendulkar 16 year old
Source: economictimes

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का डेब्यू मैच

कराची टेस्ट में भारत ने टॉस जीतकर पाकिस्तान को बल्लेबाज़ी का मौका दिया. इस दौरान पाकिस्तान ने अपनी पहली पारी में 409 रनों का विशाल स्कोर बनाया. इसके जवाब में टीम इंडिया अपनी पहली पारी में केवल 262 रनों पर सिमट गई. भारत की तरफ़ से कृष्णमाचारी श्रीकांत और नवजोत सिंह सिद्धू ने ओपनिंग की थी. इस दौरान सचिन 6वें नंबर पर बल्लेबाज़ी करने उतरे थे. सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar)

Sachin Tendulkar vs Pakistan
Source: indiatoday

सचिन ने वसीम को दिया करारा जवाब

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) जब बल्लेबाज़ी करने उतरे तो उनके सामने दोनों छोर से वसीम अकरम और वक़ार यूनिस गेंदबाज़ी कर रहे थे. जब वसीम गेंदबाज़ी करने आये तो अपने सामने 16 साल के सचिन को देख उन्हें टीज़ करने लगे. इस दौरान वसीम ने सचिन से कहा 'मम्मी से पूछकर आए हो न खेलने? लेकिन सचिन ने इसका कोई जवाब नहीं दिया. अगली ही गेंद पर सचिन ने एक झन्नाटेदार चौका लगाकर वसीम अकरम की बोलती बंद कर दी.

Sachin Tendulkar vs Pakistan
Source: hindustantimes

इसके बाद जब वक़ार यूनिस गेंदबाज़ी करने आये तो सचिन ने उनकी गेंद पर भी एक शानदार चौका जड़ दिया. इस बीच सचिन 15 रन बना चुके थे, वक़ार यूनिस अपना अगला ओवर लेकर सचिन के सामने थे. वक़ार ने पहले गेंद बाउंस मारी जो सचिन के सिर के ऊपर से निकल गई. इसके बाद वक़ार ने एक इन-स्विंग गेंद पर सचिन को क्लीन बोल्ड कर दिया और वो 15 रन बनाकर पवेलियन लौट गये. जबकि दूसरी पारी में सचिन की बैटिंग नहीं आई.

Sachin Tendulkar vs Pakistan
Source: ndtv

भारत और पाकिस्तान के बीच दूसरा टेस्ट मैच फ़ैसलाबाद में खेला गया था. इस दौरान सचिन तेंदुलकर ने इमरान ख़ान, वसीम अकरम और अब्दुल क़ादिर की ख़ूब धुनाई करते हुये 59 रनों की साहसिक पारी खेली थी. जबकि दूसरी पारी में वो केवल 8 रन ही बना सके. इसके बाद लाहौर में खेले गये तीसरे टेस्ट में सचिन ने पहली पारी में 41 रन बनाये. इस दौरान दोनों ही टीमें दूसरी पारी नहीं खेल सकी.

Sachin Tendulkar vs Pakistan
Source: timesofindia

वक़ार यूनिस की बाउंसर से टूटी सचिन की नाक

सियालकोट में खेले गये चौथे टेस्ट मैच के दौरान वक़ार यूनिस की एक बाउंसर से सचिन तेंदुलकर की नाक टूट गई थी और काफ़ी खून निकल आया था. बावजूद इसके सचिन क्रीज़ पर टिके रहे. इसके बाद सचिन ने वसीम और वक़ार की वो धुनाई की जिसे वो हमेशा याद रखते हैं. इस दौरान सचिन ने दूसरी पारी में 57 रनों की साहसिक पारी खेली थी, जबकि पहली पारी में उन्होंने 35 रन बनाये थे.

भारत और पाकिस्तान के बीच खेली गई 4 टेस्ट मैचों की इस सीरीज़ के सभी मैच ड्रॉ रहे थे. इस दौरान दोनों टीमों सयुंक्त विजेता रही थीं. इस सीरीज़ का पहला टेस्ट मैच इसलिए भी ख़ास था क्योंकि इस मैच में भारत की तरफ़ से सचिन तेंदुलकर और सलिल अंकोला, जबकि पाकिस्तान की तरफ़ से वक़ार यूनिस और शाहिद सईद ने अपना इंटरनेशनल डेब्यू किया था. सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar)

ये भी पढ़ें: दुनिया के वो 8 क्रिकेटर जिन पर लग चुका है रेप का आरोप, इस लिस्ट में 3 भारतीय भी हैं शामिल