1983 World Cup: 25 जून, 1983 भारतीय क्रिकेट इतिहास का वो सुनहरा दिन था जब भारत ने पहली बार वर्ल्ड कप (World Cup) जीतकर इतिहास रचा था. भारत से पहले वेस्टइंडीज़ दो बार 1975 और 1979 में वर्ल्ड चैंपियन बन चुका था. भारत के लिए 1983 का ‘वर्ल्ड कप’ इसलिए भी ख़ास है क्योंकि टीम इंडिया (Team India) ने फ़ाइनल में 2 बार की वर्ल्ड चैंपियन वेस्टइंडीज़ की टीम को पटखनी देकर ये कारनामा कर दिखाया था.

ये भी पढ़ें- 1983 ‘वर्ल्ड कप’ जीतने पर भारतीय टीम के खिलाड़ियों को मिले थे कितने पैसे? देखिये वो सैलरी स्लिप

icc

क्रिकेट एक्सपर्ट भारतीय टीम (Indian Team) को सेमीफ़ाइनल के लायक भी नहीं मान रहे थे, लेकिन भारत की युवा टीम ने वो कर दिखाया जो इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया जैसी दिग्गज टीमें भी नहीं कर पाईं. इस दौरान भारतीय टीम ने बैटिंग, बॉलिंग और फ़ील्डिंग में शानदार खेल दिखाते हुए एक नए युग की शुरुआत की. भारत की इस ऐतिहासिक जीत ने ही हमें सुनील गावस्कर, कपिल देव, मोहिंदर अमरनाथ, यशपाल शर्मा, के. श्रीकांत, मदन लाल और रोज़र बिन्नी जैसे धाकड़ खिलाड़ी दिये.

cricketcountry

आज 38 साल बाद भी जीत की वो यादें उस चैंपियन टीम के हर खिलाड़ी और खेल प्रेमियों के दिलों में ताजा हैं. लेकिन याद नहीं है तो वो एकमात्र खिलाड़ी जो उस विश्व विजेता टीम का सदस्य तो था, लेकिन उसे न तो ‘वर्ल्ड कप’ में, न ही देश के लिए आगे एक भी इंटरनेशनल मैच खेलने को मिला.

livemint

कौन था वो खिलाड़ी  

इस खिलाड़ी का नाम सुनील वाल्सन (Sunil Valson) है. वो तेज़ गेंदबाज़ के तौर पर 1983 के ‘वर्ल्ड कप’ में भारतीय टीम के सदस्य थे. लेकिन इस दौरान उन्हें एक भी मैच खेलने को नहीं मिला. ‘वर्ल्ड कप’ से लौटने के बाद सुनील को टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया. वो एक बेहतरीन तेज़ गेंदबाज़ थे, लेकिन बदकिस्मती से सुनील भारत के लिए एक भी इंटरनेशनल मैच नहीं खेल सके.

alchetron

ये भी पढ़ें- 1983 क्रिकेट वर्ल्ड कप नहीं देखा, तो उस ऐतिहासिक मैच की Highlights इन 20 तस्वीरों में देख सकते हो

सुनील वाल्सन (Sunil Valson) ने घरेलु क्रिकेट में हमेशा ही शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन भारतीय टीम में कपिल देव, मोहिंदर अमरनाथ, रोज़र बिन्नी, मदन लाल और चेतन शर्मा जैसे गेंदबाज़ों की मौजूदगी के चलते उन्हें अपने पूरे करियर में एक भी अंतर्राष्ट्रीय मुकाबला खेलने को नहीं मिला.

thebridge

घरेलु क्रिकेट में रहा शानदार करियर  

सुनील वाल्सन (Sunil Valson) बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ थे. उन्होंने 1981-82 में प्रथम श्रेणी में तमिलनाडु के लिए 75 मुक़ाबलों में 212 विकेट हासिल किये. जबकि लिस्ट ए के 22 मुक़ाबलों में 23 विकेट हासिल किये. वो दाएं हाथ से बल्लेबाज़ी करते थे. प्रथम श्रेणी के 75 मुक़ाबलों में वो बल्ले से केवल 376 रन ही बना सके. सुनील साल 2018 में आईपीएल में ‘दिल्ली कैप्टल’ के टीम मैनेजर भी रह चुके हैं.

navbharattimes

आज कबीर ख़ान द्वारा निर्देशित बॉलीवुड फ़िल्म ’83’ का टीज़र भी रिलीज़ हो चुका है.

इस फ़िल्म में रणबीर सिंह, दीपिका पादुकोण, हार्डी संधू, एम्मी विर्क, शाक़िब सलीम, जीवा, पंकज त्रिपाठी और बोमन ईरानी समेत कई अन्य कलाकार भी नज़र आएंगे.