टीम इंडिया के पूर्व धाकड़ बल्लेबाज़ विनोद कांबली (Vinod Kambli) इन दिनों आर्थिक तंगी से गुज़र रहे हैं. कभी भारतीय क्रिकेट की सुपरस्टार माने जाने वाले विनोद कांबली आज इस कदर कंगाल हो चुके हैं कि वो BCCI से मिलने वाली 30 हज़ार रुपये की पेंशन के सहारे जीने को मजबूर हैं. 50 साल के विनोद कांबली ने आख़िरी बार साल 2019 में मुंबई की एक टी-20 लीग में टीम की कोचिंग की थी. इसके अलावा वो सचिन तेंदुलकर की ‘तेंदुलकर मिडिलसेक्स ग्लोबल अकादमी’ में भी ट्रेनिंग देते थे, लेकिन साल 2020 में भारत में आये कोरोना वायरस ने उनकी ज़िंदगी ही बदल दी.

ये भी पढ़ें- क्या सचिन और कांबली अब भी अच्छे दोस्त हैं? या फिर ये फ़ोटो बस लोगों को दिखाने के लिए है

mid-day

Vinod Kambli Financial Strife

मिड डे से बातचीत में विनोद कांबली ने कहा, मुझे अपने परिवार की देखभाल के लिए काम की सख़्त ज़रूरत है. मैं क्रिकेट से जुड़ा कोई भी काम करने को तैयार हूं. आज BCCI से मिलने वाली पेंशन ही मेरे परिवार का एकमात्र सहारा है. मैं मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के पास भी काम के लिए गया था. मैं उम्मीद करता हूं कि मुझे कोई काम मिल पाएगा. मेरे दोस्त सचिन तेंदुलकर को मेरी इस हालात के बारे में अच्छे से पता है, लेकिन मैं उनसे कोई उम्मीद नहीं रखना चाहता क्योंकि वो पहले ही मेरी काफ़ी मदद कर चुके हैं.

एक दौर था जब विनोद कांबली भारतीय क्रिकेट का सबसे बड़ा सितारा माना जाता था. सचिन तेंदुलकर के बचपन के दोस्त कांबली ने छोटी उम्र से ही अपने टैलेंट से पूरे देश को अपना दीवाना बना लिया था. कोच रमाकांत अचरेकर से क्रिकेट की बारीकियां सीखने वाले सचिन और कांबली ने स्कूल क्रिकेट में तहलका मचाने के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट में धमाकेदार एंट्री की थी. सचिन ने 1989 में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ तो कांबली ने भी 1991 में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ ही भारतीय क्रिकेट टीम में अपना डेब्यू किया था. लेकिन विनोद कांबली कुछ ही साल में सचिन तेंदुलकर से कहीं आगे निकल गये.  

Vinod Kambli Financial Strife

mid-day

चलिए इन पॉइंट्स के ज़रिए जान लीजिये वर्ल्ड क्रिकेट का चमकता सितारा विनोद कांबली हीरो से जीरो कैसे बना-

1- सन 1988 में शारदाश्रम विद्यामंदिर स्कूल की तरफ़ से Harris Shield Trophy में खेलते हुए 14 साल के सचिन और 16 साल के कांबली ने 664 रनों की वर्ल्ड क्रिकेट पार्टनरशिप की थी.  

2- इस दौरान विनोद कांबली ने नाबाद 349 रनों की धमाकेदार पारी खेली थी, इसके बाद गेंदबाज़ी में 37 रन देकर छह विकेट भी झटके थे.  

3- विनोद कांबली इतने टैलेंटेड क्रिकेटर थे कि उन्होंने अपने रणजी ट्रॉफ़ी करियर की शुरुआत पहली गेंद पर छक्का लगाकर की थी.

4- विनोद कांबली ने 18 अक्टूबर 1991 को पाकिस्तान के ख़िलाफ़ भारतीय क्रिकेट वनडे टीम में अपना डेब्यू किया था.  

Vinod Kambli Financial Strife

twitter

5- विनोद कांबली ने इसके बाद 29 जनवरी 1993 को इंग्लैंड के ख़िलाफ़ अपना टेस्ट डेब्यू किया था.

6- कांबली ने 1993 में वानखेड़े स्टेडियम में इंग्लैंड के खिलाफ अपने तीसरे ही टेस्ट मैच में अपना पहला टेस्ट शतक (224) ठोका था.  

7- कांबली ने इसके बाद अपने छठे टेस्ट मैच में ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ लगातार दूसरा दोहरा शतक (227) लगाया था. 

Vinod Kambli Financial Strife

wisden

8- विनोद कांबली ने अपनी अगली टेस्ट सीरीज़ में श्रीलंका के ख़िलाफ़ 125 और 120 रनों की शतकीय पारी खेली थी.

9- विनोद कांबली 3 पारियों में लगातार 3 टेस्ट शतक लगाने वाले एकमात्र क्रिकेटर भी हैं, ये सभी शतक अलग अलग देशों के ख़िलाफ़ हैं.

10- विनोद कांबली के नाम टेस्ट में सबसे तेज़ (14 पारियों में) 1000 रन तक पहुंचने वाले भारतीय खिलाड़ी का रिकॉर्ड भी है. 

11- कांबली ने साल 1993 में अपने जन्मदिन के मौके पर इंग्लैंड के ख़िलाफ़ नाबाद शतक लगाया था. वनडे क्रिकेट में ऐसा करने वाले वो पहले बल्लेबाज़ थे. 

Vinod Kambli Financial Strife

cricketworld

12- विनोद कांबली 1992 और 1996 के वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के सबसे भरोसेमंद क्रिकेटर के तौर पर खेले थे.  

13- विनोद कांबली साल 1996 के ‘वर्ल्ड कप’ तक वर्ल्ड क्रिकेट के बड़े स्टार बन चुके थे. सेमीफ़ाइनल में श्रीलंका के ख़िलाफ़ टीम इंडिया की हार पर कांबली ख़ूब रोये थे.  

14- 1996 वर्ल्ड कप के बाद फैशन और चकाचौंथ के चलते विनोद कांबली का क्रिकेटिंग ग्राफ़ साल दर साल नीचे जाता गया.   

15- विनोद कांबली ने लगातार फ़्लॉप होनेफ़ॉर्म से जूझने के बाद 29 अक्टूबर 2000 को अपना आख़िरी वनडे खेला, जबकि आख़िरी टेस्ट मैच 8 नवंबर 1995 को खेला था.  

Vinod Kambli Financial Strife

twitter

16- क्रिकेट से दूर होने के बाद विनोद कांबली ने साल 2002 में अनर्थ फ़िल्म से बॉलीवुड में डेब्यू किया था. इसी साल दूरदर्शन के मशहूर टीवी शो ‘Miss India में भी काम किया. 

17- विनोद कांबली ने इसके बाद साल 2009 में बॉलीवुड फ़िल्म ‘पल पल दिल के सात’ और साल 2015 में कन्नड़ फ़िल्म Bettanagere में भी नज़र आये थे. इसके अलावा वो रियलिटी शो ‘बिग बॉस’ में भी नज़र आ चुके हैं.  

18- विनोद कांबली ने साल 1998 में नोएला लुईस से शादी की थीं. लेकिन कुछ साल में तलाक देने के बाद कांबली ने फैशन मॉडल एंड्रिया हेविट से शादी कर ली.  

19- एंड्रिया हेविट से शादी के बाद कांबली ने कैथोलिक चर्च में धर्मांतरण किया और साल 2010 में पैदा हुए अपने बेटे का नाम जीसस क्रिस्टियानो कांबली रखा.  

Vinod Kambli Financial Strife

indiatoday

20- विनोद कांबली पॉलिटिकल पार्टी ‘भक्ति शक्ति पार्टी’ में शामिल हो गए थे और उन्हें पार्टी का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया.  

21- साल 2009 में उन्होंने मुंबई के विक्रोली से ‘लोक भारती पार्टी’ के उम्मीदवार के रूप में विधानसभा चुनाव लड़ा लेकिन चुनाव हार गए थे.

22- साल 2013 को विनोद कांबली को दिल का दौरा पड़ने पर मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इससे पहले साल 2012 में उनकी दो एंजियोप्लास्टी हुई थी. 

23- क्रिकेट, फ़िल्म, टीवी और राजनीति से दूर होने के बाद विनोद कांबली की आर्थिक स्थिति धीरे-धीरे कमज़ोर होने लगी. 

Vinod Kambli Financial Strife

24- फ़रवरी, 2022 में विनोद कांबली ने नशे में ड्राइविंग करते हुए एक गाड़ी को टक्कर मार दी थी, इसके बाद मुंबई पुलिस ने उन्हें नशे में गाड़ी चलाने के जुर्म में गिरफ़्तार कर लिया था.